अंबेडकरनगर : महरुआ थानाक्षेत्र के गांव सुभाकरपुर में तालाब तथा श्मशान की भूमि पर अवैध कब्जा कर बनाए गए वर्षों पुराने पक्के मकान को तहसीलदार गौरव सिंह ने पुलिस, महिला आरक्षियों व पीएसी की मौजूदगी में जेसीबी से ढहा दिया। ग्राम प्रधान को जल संचयन के लिए तालाब का आकार देने का निर्देश दिया।

गांव निवासी इदरीश पुत्र जुम्मन ने वर्षों पूर्व अवैध रूप से कब्जा कर पहले छप्पर रखा। इसके बाद उस पर पक्का निर्माण कर सपरिवार कब्जा कर लिया। इसका मुकदमा तहसीलदार भीटी के न्यायालय में चल रहा था। गत वर्ष माह दिसंबर में साक्ष्यों के परीक्षण के बाद तत्कालीन तहसीलदार ने तालाब व श्मशान की भूमि से अवैध कब्जा हटाने का आदेश राजस्व निरीक्षक व लेखपाल को दिया था। क्षेत्रीय लेखपाल व राजस्व कर्मी ने आरोपित को कब्जा हटाने के लिए कई बार नोटिस दी। इसके बावजूद भी आरोपित अवैध कब्जा नहीं हटाया। इसकी रिपोर्ट गत दिनों लेखपाल ने एसडीएम व तहसीलदार की दी थी। एसडीएम ने तहसीलदार के नेतृत्व में पुलिस व पीएसी की मदद से अवैध कब्जा हटाने का आदेश राजस्व निरीक्षक को दिया था। तहसीलदार के नेतृत्व में पुलिस कर्मियों ने गांव पहुंचकर राजस्व निरीक्षक सुखदेव, लेखपाल दुर्गा सिंह, ग्राम प्रधान तथा ग्रामीणों की मौजूदगी में पक्का निर्माण ढहा दिया। इस कार्रवाई से तहसील क्षेत्र में सरकारी भूमि के अन्य अवैध कब्जेदारों में हड़कंप मचा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस