अंबेडकरनगर : क्षेत्र में आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। जिम्मेदार अधिकारियों की उदासीनता के चलते भवन से संबंधित समस्याओं का निस्तारण नहीं किया जा सका। इससे नौनिहालों को समय से पुष्टाहार प्रदान करने और पोषण की उम्मीदों को धक्का लग रहा है।

ग्राम पंचायत कुसुमखोर में आंगनबाड़ी भवन पिछले दो वर्षों से निर्माण कार्य अधूरा है। प्राथमिक विद्यालय परिसर में यह भवन उपेक्षा का दंश झेल रहा है। यहां नौनिहालों की पढ़ाई-लिखाई राम भरोसे है। बच्चों को मिलने वाला पुष्टाहार भी नहीं पहुंच रहा है। पूर्व ग्राम प्रधान मंगरूराम बताते हैं कि बच्चों के साथ गर्भवती महिलाओं को भी विभागीय सुविधाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। ग्राम पंचायत महमदपुर ओद्दरपुर में आंगनबाड़ी केंद्र के साथ ही शौचालय दो वर्ष से पूरा नहीं हो सका। ऐसे में खुले गड्ढे दुर्घटना को दावत दे रहे हैं। स्थानीय निवासी अमित सिंह का कहना है कि बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर इन गड्ढों को भरना आवश्यक है। इनमें पशु अक्सर गिरते रहते हैं। इस बाबत सीडीपीओ बलराम सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में है। कार्यदायी संस्थाओं की लापरवाही के कारण यह समस्या है, जिसका शीघ्र ही निस्तारण कराया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस