प्रयागराज, जेएनएन। यूपी के कौशांबी जिले के कोखराज थाना क्षेत्र में एक युवक ने आत्‍महत्‍या कर लिया।  काशिया पूरब गांव में घर के अंदर युवक ने रविवार की भोर में पहले अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल लिया। इसके बाद आग लगाया। आग की लपट और युवक के चीखने-चिल्‍लाने की आवाज सुनकर पड़ोसी वहां पहुंचे। दरवाजा तोड़कर उसे बाहर तो निकाल लिया गया लेकिन जान नहीं बच सकी।

काशिया पूरब निवासी 22 वर्षीय अजय कुमार अपनी मां गोमती देवी के साथ रहता था। रविवार की भोर में उसने घर के अंदर कमरे में अपने आपको बंद कर लिया। इसके बाद मिट्टी का तेल डालकर खुदकशी कर लिया। हादसे के दौरान उसकी मां गोमती देवी गांव में ही बने दूसरे घर में सो रही थी। आग की लपटें देख पड़ोसियों की नींद टूटी। ग्रामीणों ने अजय की मां को जानकारी दी। फिर मशक्कत के बाद दरवाजा तोड़कर ग्रामीण अंदर गए। हालांकि तब तक उसकी अजय की मौत हो चुकी थी। सूचना पाकर वहां पुलिस भी पहुंची। गोमती देवी ने बताया कि उसका पति सुखराम करीब 20 वर्ष पहले एक दूसरी पत्नी के साथ पुरामुफ्ती के मोहद्दीपुर में रहने लगा था। इसके बाद से वह अपने बेटे अजय के साथ रहती थी।

संदिग्ध दशा में युवक की मौत

कौशांबी के पिपरी थाना क्षेत्र स्थित कसेंदा गांव में शनिवार की रात में संदिग्ध दशा में एक युवक की मौत हो गई। स्वजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया। कसेंदा गांव निवासी मुन्ना वाहन चालक है। मजदूरी पर वाहन चला कर घर की रोजी-रोटी चलाता है। मुन्ना के अनुसार शनिवार की रात करीब आठ बजे उसके 18 वर्षीय पुत्र साकिब की अचानक तबीयत बिगड़ने लगी। इलाज के लिए उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। हालत गंभीर होने पर डाॅक्टरों ने उसे प्रयागराज के अस्‍पताल रेफर कर दिया। प्रयागराज के एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान ही रात करीब दस बजे उसकी मौत हो गई। शव लेकर लौटे परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस