प्रयागराज, जेएनएन। स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में डाक्टरों पर युवती से दुष्कर्म के लगे आरोप के बाद लड़ाई अब आमने-सामने की हो गई है। एक तरफ सपा नेता डा. ऋचा सिंह के वार पर वार हो रहे हैं, वहीं जूनियर रेजीडेंट डाक्टरों के साथ इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन (एएमए) मजबूती से खड़ा हो गया है। एएमए ने दुष्कर्म का आरोप लगा रहे लोगों की निंदा की है। जूनियर डाक्टरों से मुलाकात करने पर राज्य सभा सदस्य कुंवर रेवती रमण सिंह ने आश्वस्त किया है कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा।

एएमए ने कहा- रेजीडेंट डाक्‍टरों पर आरोप बेबुनियाद व अपुष्‍ट

एएमए ने जूनियर रेजीडेंट डाक्टरों के समर्थन में बैठक की। इसमें कहा गया कि रेजीडेंट डाक्टरों पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे बेबुनियाद और अपुष्ट हैं। जूनियर डाक्टरों के चरित्र पर हमला करना निंदनीय है। एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से आग्रह किया कि बेजा आरोप लगा रहे अवांछनीय तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

डॉक्‍टरों ने राज्‍य सभा सदस्‍य से की मुलाकात

डाक्टरों ने इसके बाद अशोक नगर में राज्‍य सभा सदस्‍य कुंवर रेवती रमण सिंह से उनके आवास पर मुलाकात कर समस्या बताई। रेवती रमण ने कोविड-19 के संक्रमण काल में डाक्टरों के कार्य की सराहना की। कहा कि जो भी आरोप लग रहे हैं, उसका निराकरण जल्द कराया जाएगा। बैठक में एएमए के अध्यक्ष डा. एमके मदनानी, प्रेसीडेंट इलेक्ट डा. सुजीत सिंह, सचिव डा. राजेश मौर्या, डा. अशोक अग्रवाल, डा. अनिल शुक्ला, रेजीडेंट डाक्टर्स एसोसिएशन के डा. आशुतोष झा, डा. सार्थक उत्तम, डा. गुंजन ङ्क्षहद सहित कई चिकित्सक मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप