प्रयागराज, जेएनएन। अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस 2021 को पर्व के रूप में आज मनाया गया है। प्रयागराज में भी लोगों में उत्‍साह का माहौल हा। कोरोना काल में योग का महत्‍व और भी बढ़ गया है। कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए लोग योग के माध्‍यम से अपने को स्‍वस्‍थ रखने का प्रयास भी कर रहे हैं। योग दिवस पर जगह-जगह कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।

घरों में हुए योग, परिवार संग कहीं ऑनलाइन जुड़े लोग

कोरोना की बंदिशों के बीच सोमवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योगाभ्यास घर घर में हुआ। सुबह सवेरे घर आंगन, छत, लॉन में मैट पर बड़े बुजुर्गों से लेकर बच्चों तक ने योग किया। शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क में तथा विभिन्न नई पुरानियों कालोनियों के पार्क में भी लोग शारीरिक दूरी बनाकर योग करते नज़र आये। इनके अलावा मठ आश्रम और वेदपाठ विद्यालयों में भी योग के धारा भी।

उत्साह में टूटे नियम

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जमकर मनाने के उत्साह में बड़ी तादाद में लोग चंद्रशेखर आज़ाद पार्क में पहुंच गए। जबकि जिला प्रशासन ने समूह में जुटने पर पाबंदी लगा रखी है। हालांकि योगियों के जुटने पर कोई रोकटोक भी नहीं हुई। कुछ लोगों ने खुशरू बाग में पश्चिमी गेट से भीतर पहुंच कर योग किया।

बच्चों को कराया योग

घरों में योग दिवस पर बड़े बुजुर्ग प्रशिक्षक और बच्चे प्रशिक्षु बने। उन्हें नाड़ी शोधन, अनुलोम विलोम, भुजंग आसन, पद्मासन, अर्ध पवनमुक्तासन, पूर्ण पवनमुक्तासन, शीर्षासन, सुखासन के तरीके और इससे होने वाले फायदे बताए गए। कई जगह हंसी के ठहाके भी लगे। कई संस्थाओं ने ऑनलाइन योग कराया। बैंक कर्मी, रेल कर्मी, स्वास्थ्य कर्मी, शिक्षक, अन्य शासकीय कर्मचारी, व्यापारी और अन्य कार्यक्षेत्रों के लोगों ने भी अपने अपने घरों में योग किया।

मठ आश्रम में सन्यासियों के किया योग

दारागंज के सभी अखाड़ों, मठ आश्रम में सुबह सभी सन्यासी, शिष्यों ने भी योग आसन किया। बाघम्बरी गद्दी, निर्मोही अखाड़ा, अरैल के भी विभिन्न आश्रमो में भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग साधना हुई।

विद्यार्थियों के साथ अन्‍य लोगों ने भी लिया भाग

श्री महाप्रभु पब्लिक स्कूल में अंतराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में ई-कांटेस्ट का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता तीन वर्गों में हुई। पहले वर्ग में 10 से 18 वर्ष के लोग शामिल हुए। इसमें 1180 लोगों ने पंजीकरण कराया। दूसरे वर्ग में 19 से 30 वर्ष के लोगों ने प्रतिभाग किया। इसमें मात्र 36 लोगों ने पंजीकरण कराया। तीसरा वर्ग 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का था। इसमें 122 लोगों ने प्रतिभाग किया। खास बात यह कि विद्यार्थियों के साथ बाहर के लोगों ने भी उत्साह दिखाया। ई-कांटेस्ट का उद्देश्य बेहतर स्वास्थ्य के लिए योग को बढ़ावा देना था।

योग को दिनचर्या में करना चाहिए शामिल : रविंदर बिरदी

विद्यालय की प्रधानाचार्य रविंदर बिरदी ने कहा कि सभी लोगों के दिनचर्या में योग को शामिल करना चाहिए। महामारी के समय में इसकी उपयोगिता और बढ़ गई है। बताया कि शैक्षिक सत्र 2021-22 में यह दूसरा ई-कॉन्टेस्ट है। इसके पूर्व विश्व पृथ्वी दिवस के उपलक्ष्य में भी ई-कान्टेस्ट का आयोजन किया गया था। सभी प्रतिभागियों को ई सार्टीफिकेट भी उपलब्ध कराए गए थे। इस आयोजन में विद्यालय की परीक्षा नियंत्रक शिवानी कंसल, अंकित प्रभाकर, शशि प्रकाश शुक्ला, महसबा हसन आदि ने सहयोग दिया।

खिलाडि़यों ने भी किया योग

अन्‍य लोगों के अलावा खिलाडि़यों ने भी इस विशेष दिन योग किया। यूं तो शरीर को फिट रखने के लिए खिलाड़ी नित्‍य ही योग करते हैं लेकिन आज कुछ खास था। सुबह ही मजीदिया इस्लामिया इंटर कॉलेज मैदान पर खिलाड़ी जुटे और योग का आसन किया।

ज्‍वाला देवी सरस्‍वती शिशु मंदिर में विद्यार्थियों ने किया आनलाइन योग

ज्वाला देवी सरस्वती शिशु मंदिर में इन दिनों ऑनलाइन योग शिविर चल रहा है। इसमें फेसबुग लाइव,यूट्यूब के जरिए विद्यार्थी जुड़ रहे हैं। छात्रों के साथ उनके परिवार के सदस्य भी रुचि दिखा रहे हैं। आमतौर पर श्वास संबंधी आसन व ध्यान पर अधिक जोर दिया जा रहा है। इसकी वजह महामारी से बचाव के रूप में देखा जा रहा है।

 

 

Edited By: Brijesh Srivastava