जासं, इलाहाबाद : शहर को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिले शनिवार (23 जून) को एक साल हो जाएंगे, लेकिन यह पूरा साल केवल योजना बनाने और टेंडर कराने में ही बीत गया। ऐसे में अब अफसरों के लिए कुंभ तक पहले चरण का काम करा पाना बड़ी चुनौती है, हालांकि नगर आयुक्त का दावा है कि सारे काम समय पर गुणवत्ता पूर्ण तरीके से पूरा हो जाएंगे।

संगमनगरी का स्मार्ट सिटी में चयन तीसरे चरण में पिछले वर्ष 23 जून को हुआ था। स्मार्ट सिटी के तहत दो तरह के काम एरिया बेस्ड डेवलपमेंट (एबीडी) और पैनसिटी सर्विसेज के काम होने हैं। लेकिन शुरुआत में काम की गति बहुत धीमी रही। इलाहाबाद स्मार्ट सिटी लिमिटेड के गठन, पंजीकरण और कंसल्टेंट एजेंसी के चयन में ही चार महीने बीत गए। अक्टूबर में कंसल्टेंट एजेंसी आरवी एसोसिएट्स और उसकी सहयोगी कंपनी प्राइस वॉटर कूपर (पीडब्ल्यूसी) चयनित हुई। हालांकि, एजेंसी ने भी बहुत तेजी नहीं दिखाई। नतीजतन, अब तक सिर्फ सात सड़कें, मॉडल टॉयलेट, नाइट मार्केट, इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर, अमृत योजना के तहत 14 पार्को का विकास और मोती पार्क में भूमिगत पार्किंग की ही योजना बन सकी। भूमिगत पार्किंग और 12 पार्को को छोड़ बाकी प्रोजेक्टों के टेंडर निकाले जा चुके हैं। दो सड़कों और कमांड सेंटर का टेंडर फाइनल हो चुका है, लेकिन काम शुरू नहीं हुए। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि काम की यही प्रगति रही तो वर्ष 2019 तक शहर स्मार्ट सिटी कैसे बन सकेगा। सड़कों, नाइट मार्केट और 12 पार्को के सुंदरीकरण का काम इलाहाबाद विकास प्राधिकरण करा रहा है। एबीडी में ये क्षेत्र शामिल

प्रयाग स्टेशन, एलनगंज, विश्वविद्यालय, कर्नलगंज, ममफोर्डगंज, कटरा, ¨हदू हॉस्टल, कंपनी बाग, सिविल लाइंस में नवाब यूसुफ रोड तक का क्षेत्र एबीडी में है शामिल। पैनसिटी में क्या होने हैं काम

आइटी अफसर मणिशंकर त्रिपाठी के मुताबिक पैनसिटी के तहत जलापूर्ति के लिए मीटर लगाए जाएंगे। इंफार्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नॉलॉजी बेस्ड सालिडवेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम, ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, ई-सेवाएं, ई-टूरिज्म आदि व्यवस्थाएं होंगी। पार्को में बनेंगे ओपेन जिम

चयनित पार्को के सुंदरीकरण के साथ ओपेन जिम, वॉकिंग ट्रैक आदि की भी व्यवस्थाएं होंगी। ये व्यवस्थाएं निश्शुल्क होंगी। कितना प्रस्तावित है बजट

1-2239 करोड़ (कुल)

2-1670.64 करोड़ एबीडी के लिए

3-538.36 करोड़ पैनसिटी के लिए

----------------

इन सड़कों का हो चुका है टेंडर

1-प्रधान डाकघर से कंपनी बाग तक एल्गिन रोड

2-म्योहाल चौराहा से आनंद हॉस्पिटल तक कचहरी रोड

3-म्योहाल चौराहा से मनमोहन पार्क तक शिवरामदास गुलाटी मार्ग

4-ट्रैफिक चौराहा से मनमोहन पार्क तक म्योर रोड (दो हिस्सों में)

5-नवाब यूसुफ रोड क्रासिंग से विवेकानंद चौराहा तक सरदार पटेल मार्ग 6-लक्ष्मी टॉकीज चौराहा से मजार चौराहा तक मास्टर जहरूल हसन रोड इन कामों के भी हो गए हैं टेंडर

1-इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर

2-200 एटीएम वॉटर

3-पीडी टंडन रोड पर नाइट मार्केट

4-200 मॉडल टायलेट

----------------

वर्जन--

कूड़े घरों को खत्म कर कांपैक्टर रखे जा रहे हैं। मॉडल टॉयलेट, महिलाओं के लिए पिंक टॉयलेट, वॉटर, मिल्क, मट्ठा एटीएम खुलवाए जा रहे हैं। कई अन्य काम भी हो रहे हैं। ये व्यवस्थाएं मिलने लगेंगी तो लोग खुद इधर-उधर गंदगी करना, धूकना आदि बंद कर देंगे।

अविनाश सिंह, नगर आयुक्त।

--------------

म्योहाल से आनंद हॉस्पिटल और मॉस्टर जहरुल हसन रोड का टेंडर फाइनल हो चुका है। चार सड़कों की टेक्निकल बिड खोली जा चुकी है। नाइट मार्केट और एल्गिन रोड का टेंडर निकाला जा चुका है। जुलाई में फाइनल होगा।

एसडी शर्मा, अधिशासी अभियंता एडीए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021