प्रयागराज, जेएनएन। संगम तट पर दिव्यांगजन और वृद्धजन को उपकरण वितरण समारोह के एक दिन पहले ही शुक्रवार रात में एक विश्व रिकॉर्ड बन गया। पहला विश्व कीर्तिमान 1.8 किमी की ट्राई साइकिलों पर दिव्यांगजन की परेड का बना है। इसमें लगभग तीन सौ ट्राई साइकिलें शामिल थीं, जिन पर दिव्यांग सवार थे। यह रिकॉर्ड पहले यूनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) के नाम था।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड की 60 सदस्यीय टीम मौजूद रही

इस भव्य और दिव्य समारोह में पहले कई रिकॉर्ड तोडऩे और कई नए विश्व रिकॉर्ड बनाने का भी दावा किया गया था। लंदन से शुक्रवार को प्रयागराज पहुंची गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड की 60 सदस्यीय टीम ने तीन रिकॉर्ड बनाने के लिए फोकस किया। टीम ने अन्य रिकॉर्ड के लिए दिव्यांगजन की संख्या, समय और स्थान कम होना बताया।

1.8 किमी की ट्राई साइकिलों की लंबी परेड ने बनाया रिकार्ड

शुक्रवार शाम को ही माघ मेला प्रशासन कार्यालय के सामने संगम वापसी मार्ग पर ठीक 1.8 किमी की ट्राई साइकिलों की लंबी परेड कराई गई। इस पर तीन सौ ही दिव्यांगजन भी बैठाए गए थे। चलती हुई ट्राई साइकिलों की परेड की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कराई गई। लंदन से आई टीम ने इस रिकॉर्ड पर मुहर लगा दी।

व्हील चेयर की सबसे लंबी परेड, लाइन और ट्राई साइकिलों के वितरण का विश्व कीर्तिमान

वहीं शनिवार सुबह छह सौ व्हील चेयर की सबसे लंबी परेड और लाइन का रिकॉर्ड बन गया है। इसमें चार सौ व्हील चेयर शामिल हुई, जिस पर दिव्यांगजन बैठे रहे। इसके बाद एक घंटे में छह सौ ट्राई साइकिलों के वितरण का विश्व कीर्तिमान परेड मैदान स्थित कार्यक्रम स्थल पर बन गया। इन सभी विश्व रिकॉर्ड के प्रमाणपत्र शनिवार को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड की टीम जारी करेगी। पीएम मोदी विश्व रिकॉर्ड के प्रमाणपत्रों को मुख्यमंत्री को सौंपे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस