प्रयागराज, जेएनएन। पति की लंबी आयु की कामना के लिए महिलाओं ने हरितालिका तीज का व्रत रखा। सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत रखकर भगवान शंकर-पार्वती की आराधना किया। शाम को सोलह श्रृंगार कर पूजन-अर्चन कर पति की लंबी आयु की कामना की। इस दौरान शिव मंदिरों में खूब भीड़ जुटी। पूजन के बाद भजन-कीर्तन का भी दौर चल रहा है। वहीं गंगा के विभिन्न घाटों पर स्नान करने के लिए महिलाओं की भीड़ जुटी। इधर दिन भर सोमवार को भी पूजन सामग्री जुटाने की तैयारी होती रही। बाजारों में रौनक थी।

शहर के बाजारों में दिन भर होती रही खरीदारी

विभिन्न देवी देवताओं की पूजा आराधना के लिए व्रत रखने का विधान है। वहीं हरितालिका तीज ऐसा पर्व है जिसके लिए महिलाओं को लंबे अरसे से इंतजार रहता है। इस बार भी महिलाओं में तीज को लेकर उत्साह में कोई कमी नहीं दिखी। तैयारी कई दिनों पहले से शुरू हो गई थी। सोमवार को पर्व के दिन भी चौक, सिविल लाइंस, कटरा, बहादुरगंज सहित अन्य प्रमुख बाजारों में खूब चहल पहल रही। शंकर पार्वती की मूर्तियां, पूजन सामग्री, फूल माला, श्रृंगार के सामानों की बिक्री हुई। तीज पर्व के लिए विभिन्न शिव मंदिरों में भी महिलाओं की सुविधा के लिए आवश्यक तैयारी कर ली गई थी।

आज भी महिलाओं ने लगाई मेंहदी

तीज के अवसर पर हथेली में मेंहदी रचवाने का क्रेज साल दर साल बढ़ता जा रहा है। लोग कहते हैं कि युवा पीढ़ी पाश्चात्य संस्कृति की ओर तेजी से भाग रही हैै और अपनी मूल संस्कृति से युवा विमुख हो रहे हैं। हालांकि तीज पर मेहंदी लगवाने की मजबूत होती परंपरा ने आखिर पाश्चात्य संस्कृति को दरकिनार कर दिया। सोमवार को भी बाजारों और घरों में महिलाओं और युवतियों ने मेहंदी लगवाई।

गंगा स्नान को महिलाओं की भीड़

तीज का निर्जल उपवास रखने वाली महिलाओं की काफी तादात गंगा के विभिन्न घाटों पर जुटी। सुबह और शाम को भीड़ अधिक रही। महिलाओं ने स्नान कर पूजन-अर्चन किया।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप