प्रयागराज, जेएनएन। घरेलू कलह के केस बढ़ते ही जा रहे हैं और उन्हें सुलझाना पुलिस के लिए मुश्किल भरा काम होता है। प्रयागराज मंडल में हर महीने कई केस पारिवारिक हिंसा के दर्ज होते हैं। अब जरा पड़ोसी जनपद  कौशांबी का एक केस देखिए। चरवा क्षेत्र के बबुरा गांव की एक युवती ने थाने पर जाकर पुलिस से कहा कि उसे डर है कि पति उसे अपनी गाड़ी के नीचे रौंदकर मार डालेगा।  शादी के आठ साल बाद दोनों के बीच रिश्ता खराब होने पर पति ने उसे जबरन मायके भेजकर दूसरा विवाह कर लिया। पत्नी ने परिवार न्यायालय में मुकदमा दायर किया तो उसमें सुलह करने के लिए रास्ते में रोकककर धमकाता है। कहता है कि सीधे से मुकदमे में समझौता नहीं किया तो किसी दिन रास्ते में गाड़ी से रौंदकर मार देगा। शिकायत पर पुलिस जांच कर रही है। 

रोज होने लगा झगड़ा और पीटकर घर से निकाला

चरवा के बबुरा गांव निवासी पुद्दनलाल खेती करते हैं। उन्होंने अपनी बेटी गुड़िया की शादी वर्ष 2011 में पूरामुफ्ती के बिहका गांव निवासी अनुपम के साथ किया था। अनुपम सफाई कर्मी के पद पर काजू के अराई गांव में तैनात है। आरोप है कि शादी के आठ सालों तक दोनों के बीच रिश्ता सही रहा। इसके बाद उन दोनों के बीच अक्सर अनबन रहने लगी। पति-पति के बीच रोज झगड़ा होने लगा। आरोप है कि दो साल पहले अनुपम ने पत्नी गुड़िया को पीटकर घर से निकल दिया। गुड़िया मायके बबुरा में आकर रहने लगी। गुड़िया की तमाम कोशिश के बाद भी जब पति ने उसे नहीं अपनाया तो उसने परिवारिक न्यायालय में परिवार भरण-पोषण की अर्जी दाखिल कर दी। इसका मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है।

चुपके से रचा ली दूसरी शादी और देता है धमकी

गुड़िया का आरोप है कि इसी बीच उसे पता चला है कि अनुपम ने गुपचुप ढंग से दूसरी शादी रचा ली है। अब जब वह मुकदमे की पैरवी के लिए अदालत जाती है तो अनुपम उसे रास्ते में रोककर धमकी देता है कि वह मुकदमा वापस लेकर सुलह कर ले वरना गाड़ी से कुचलकर उसे मार डालेगा।  18 अक्तूबर को भी उसने धमकी दिया था । पीड़ित गुड़िया देवी ने मंगलवार को चरवा थाना में मामले की तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है । तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू करते हुए उसे कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।

Edited By: Ankur Tripathi