प्रयागराज, जागरण संवाददाता। देश भर में आवागमन को सरल करने के लिए सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़कें बनवाई जा रही है। इन सड़कों के निर्माण में धांधली की शिकायत अक्सर मिलती है। कभी गुणवत्ता को लेकर तो कभी सड़क की लंबाई को लेकर सवाल उठते रहे हैं। अब जो मामला सामने आया है वो भी गजब है। सड़क की जो दूरी बताई जा रही है उसे कुछ लोगों ने बाइक से तय की लेकिन दूरी कम निकली यानी सड़क छोटी हो गई। अब इस पर सवाल उठे कि सड़क छोटी या फिर मीटर खोटा।

बहादुरपुर ब्लाक के चमनगंज से चकिया के बीच बनी है 5.6 किमी लंबी सड़क

बहादुरपुर ब्लाक में इन दिनों चमनगंज से चकिया के बीच 5.600 किलोमीटर की सड़क प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गई है। इसकी लंबाई पर भी शिकायत होने लगी है। कुछ लोगों ने इस सड़क की लंबाई को बाइक चलाकर नापा तो निर्धारित दूरी से कम लंबी सड़क मिली। अब सवाल उठता है कि सड़क की लंबाई में ठेकेदार और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने मिलकर खेल किया या फिर मोटर साइकिल के मीटर में गड़बड़ी है।

माइल स्टोन 100 की जगह 80-85 मीटर पर लगाने की आशंका

चमनगंज से चकिया तक सफर करने वाले बहुत खुश हैं। पहले जहां इस रास्ते को पार करने में परेशानी होती थी अब वहीं शानदार तरीके से फर्राटा भरते बनता है। नई-नवेली सड़क सभी को भा रही है। लेकिन, ये भी दिलचस्प है कि कुछ लोगों को इस सड़क में गड़बड़झाला भी दिख रहा है। कायदे से यह सड़क 5.6 किलोमीटर की है, लेकिन बाइक या कार से चलने वालों को इसकी लंबाई कुछ कम लगती है। ऐसा उनके वाहन के मीटर की वजह से है जिसके जरिए दूरी नापने की कोशिश हो रही है।

लोगों ने बाइक से नापी दूरी तो  लगी कम

लोक निर्माण विभाग द्वारा बाकायदे 100-100 मीटर पर माइल स्टोन लगा है लेकिन गाडि़यों के मीटर कहीं इसे 80 मीटर पर पा रहे हैं तो कहीं 85 या कहीं-कहीं 100 मीटर पर भी। कुल लंबाई नापने के लिए जागरण संवाददाता ने खुद इस रास्ते पर अपनी बाइक तीन बार इधर से उधर तक दौड़ाई। मामला संदिग्ध तो लगा, जैसी आशंका अन्य राहगीरों को हो रही है, वैसा ही पाया भी गया। अब दूरी दर्शाने में क्या सच में कोई कारस्तानी की गई है या ये सिर्फ लोगों का भ्रम है, यह तो खुद विभाग ही जांच कर स्पष्ट कर सकेगा। हालांकि विभागीय अफसर इस आशंका को पूरी तरह से नकारते हुए कह रहे हैं कि सब सही है, कोई गड़बड़ी नहीं है।

विवरण एक नजर में

मार्ग की लंबाई : 5.6 किलोमीटर

कार्य शुरू हुआ : 24 मार्च 2021

पूर्ण हुआ : 23 मार्च 2022

लागत : 634.60 लाख रुपये

कार्यदायी संस्था : लोक निर्माण विभाग, निर्माण खंड दो

ठेकेदार : मेसर्स राय एंड कंपनी

Edited By: Ankur Tripathi