प्रयागराज, जेएनएन : गर्मी से परेशान लोगों को दो दिनों से खुशनुमा हुए मौसम ने काफी राहत दी है। रविवार को रुक-रुक कर चली पूर्वी हवा और फुहारों ने फिजां में और भी रंगत घोल दी। मौसम विशेषज्ञों के अनुमान के मुताबिक बारिश तो हल्‍की हुई है, लेकिन बादलों की आवाजाही के चलते इसके आसार अभी बने हुए हैं। सोमवार तक मानसून की पहली बारिश हो सकती है। मौसम के बदले मिजाज के चलते पारा भी तेजी से गिरा। शनिवार को अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री रिकॉर्ड किया गया जो कि सामान्य से चार डिग्री कम है। न्यूनतम तापमान 26.6 डिग्री पर रहा।

आसमान में मंडराए बादलों के बावजूद शुक्रवार को दोपहर तक गर्मी रही और अधिकतम तापमान 42.1 डिग्री तक पहुंच गया था। लेकिन बंगाल की खाड़ी से चली पूर्वी हवा ने मानसून आने का संदेशा देने के साथ वातावरण में ठंडक भी फैला दी। शनिवार को सूरज कभी निकला तो कभी बादलों की ओट में छिप गया। शहर के अलावा आसपास कस्बों में हल्की बूंदाबादी हुई। दोपहर तक बादल आते-जाते रहे। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के 14 साल तक विभागाध्यक्ष रहे प्रोफेसर सविंद्र सिंह कहते हैं कि मानसून आ रहा है यह तय हो चुका है। किंतु, शनिवार को बारिश होने की उम्मीद पूरी नहीं हो सकी। रविवार को बूंदाबांदी हुई। हालांकि सोमवार तक बारिश का अनुमान है। कहा कि मौसम अगले कुछ दिनों तक खुशनुमा रहेगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava