जागरण संवाददाता, प्रयागराज : लक्षण वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक से स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय के वार्ड आठ में भर्ती किया जाना तय हो गया है। इसके लिए वार्ड आठ के रास्ते की बैरीकेडिंग शुरू हो गई है। वार्ड के भीतर भी तैयारी हो रही है। एसआरएन की पुरानी बिल्डिंग में मुख्य रास्ते के बीचोबीच ही बैरीकेडिंग से कोरोना के मरीजों और चिकित्सा स्टाफ के लिए रिजर्व रास्ता रहेगा।

एसआरएन के सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक में वर्तमान में चार मरीज भर्ती हैं। इन मरीजों को वार्ड आठ में शिफ्ट किया जाना है क्योंकि सुपर स्पेशियलिटी ब्लाक में उच्च स्तरीय चिकित्सा के कार्य शुरू होने हैं। लक्षण वाले कोरोना मरीजों की संख्या अभी कम है और उनके इलाज में एक बड़ा अस्पताल फंसा हुआ है इसलिए उसे खाली करने की योजना है। मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. एसपी सिंह ने कहा कि वार्ड आठ में लक्षण वाले कोरोना मरीजों को भर्ती किया जाएगा, इसकी तैयारी चल रही है। प्राइवेट रूम की सुविधा 15 मार्च के बाद

-एसआरएन परिसर की पुरानी बिल्डिंग में अभी किसी को प्राइवेट रूम नहीं दिए जा रहे हैं। यह सुविधा कोरोना संक्रमण के शुरुआती दिनों से ही है। इन प्राइवेट रूम में अभी कोविड अस्पताल के चिकित्सा स्टाफ ही रुक रहे हैं। शासन से बनी कार्ययोजना के अनुसार 15 मार्च के बाद क्वारंटाइन व्यवस्था खत्म होनी है इसलिए एसआरएन के प्राइवेट रूम भी आम लोगों के लिए शुरू कर दिए जाएंगे। आठ मार्च को वृद्ध महिलाओं का विशेष टीकाकरण

जागरण संवाददाता, प्रयागराज : आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है। इस दिन को कोविड-19 टीकाकरण के लिहाज से शासन की मंसा के अनुसार स्वास्थ्य विभाग विशेष समर्पित करने की तैयारी में है। जिसके तहत जनपद में दो केंद्र बनाए जाएंगे उसमें 60 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को ही कोविड के टीके लगाए जाएंगे।

सीएमओ डा. प्रभाकर राय ने बताया कि एक टीकाकरण केंद्र किसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को तथा दूसरा, शहर में डफरिन अस्पताल को केंद्र बनाया जाएगा। इसमें वैक्सीनेटर सहित सभी स्टाफ महिला ही रहेंगी। इसमें टीके का लाभ पाने के लिए 60 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को कोविन-टू पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना होगा। संभवत: इस रजिस्ट्रेशन के लिए पोर्टल एक मार्च से खुल जाएगा।

Edited By: Jagran