प्रयागराज, विधि संवाददाता। इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी का चुनाव बुधवार को होगा। हाई कोर्ट क्रिकेट ग्राउंड में बने पंडाल में सुबह नौ से शाम पांच बजे तक मतदान चलेगा। इसके साथ 28 सदस्यीय कार्यकारिणी में अलग-अलग पदों पर चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों का भविष्य मतपेटिका में बंद हो जाएगा। एडल्र्स कमेटी मंगलवार को दिनभर मतदान की तैयारियों में जुटी रही। चुनाव में कुल 9650 वकील मतदाता बने हैं। निर्विघ्न वोटिंग के लिए मतदान स्थल को पांच सेक्टर में बांटा गया है। हर सेक्टर का प्रभारी एल्डर्स कमेटी का एक सदस्य होगा, जबकि बूथों की संख्या 20 से अधिक है।

सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में होगा मतदान

बार एसोसिएशन अधिवक्ता क्रमानुसार मतदान कर सकेंगे। निष्पक्षता के लिए मतदान सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में कराया जाएगा। एल्डर्स कमेटी के सदस्य वरिष्ठ अधिवक्ता टीपी सिंह के अनुसार दोपहर दो से 2.30 बजे तक भोजनावकाश होगा। इस दौरान मतदान की प्रक्रिया बंद रहेगी। सभी मतदाताओं को उनका वोटर क्रमांक, कंप्यूटर क्रमांक तथा गेट संख्या की सूचना एसएमएस के माध्यम से भेजी गई है, जिससे किसी को मतदान करने में परेशानी न होने पाए।

वरिष्ठ व महिला अधिवक्ताओं का बूथ नंबर एक पर पड़ेगा वोट

वरिष्ठ अधिवक्ता और महिला अधिवक्ताओं का वोट बूथ संख्या एक पर पड़ेगा। शेष मतदाताओं के लिए अलग-अलग बूथ क्रमानुसार बनाए गए हैं। सुविधा के लिए एक सूचना कक्ष भी बनाया गया है। वहां मतदान से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकेगी।

सीरियल नंबर बताने पर मिलेगा टोकन

हर मतदाता को बूथ पर सीरियल नंबर बताने पर एक टोकन दिया जाएगा। इसके बाद कंप्यूटर पर उसका नाम ब्लाक हो जाएगा, जिससे कोई अन्य उसके स्थान पर वोट न डाल सके। टोकन दिखाने पर उंगली में स्याही लगाने के बाद मतपत्र दिए जाएंगे। मतपत्रों को भरने के लिए 40 कक्ष बनाए गए हैं। जहां बैठकर मतदाता मतपत्र पर वोट दे सकेंगे।

बनाना है सिर्फ सही का निशान

अधिवक्ता को अपने पसंदीदा प्रत्याशी के नाम के सामने सिर्फ टिक (सही) का निशान बनाना है। अन्य कोई निशान बनाने पर मत दान निरस्त कर दिया जाएगा। मतपत्र लाल, नीला, नारंगी, हरा व पीले रंग का है। इन्हीं रंगों की मत पेटियां भी बनाई गई है। जिस रंग का मतपत्र हो उसी रंग की मतपेटी में मतदाता को मतपत्र डालना होगा। इससे मतपत्रों की छटाई में लगने वाले समय को बचाया जा सकेगा। मतदान कार्य की निगरानी सीसीटीवी कैमरे और वीडियोग्राफी के जरिए की जाएगी। इसके अलावा वरिष्ठ अधिवक्ताओं की टीम भी मतदाताओं की सहायता के लिए मतदान स्थल पर उपलब्ध रहेगी। शाम पांच बजे तक जो मतदाता गेट के भीतर आ चुके होंगे, उन्हें मतदान की सुविधा दी जाएगी। मतदान के समय सुरक्षा बल तैनात रहेंगे। मतदान के अगले दिन मतगणना शुरू हो जाएगी।

Edited By: Ankur Tripathi