प्रयागराज, जेएनएन। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत के आह्वान 'संकट को अवसर बनाकर नए भारत के निर्माण' का स्वयं सेवकों ने संकल्प लिया। संघ प्रमुख के बौद्धिक वर्ग को स्वयं सेवकों ने यू-ट्यूब, फेसबुक व टीवी पर सुना।

स्वयं सेवकों ने संघ प्रमुख की बातों को डायरी में नोट भी किया

आरएसएस की ओर से 29 नगरों व प्रयाग विभाग के पांचों जिलों में विभाजित जिले के पदाधिकारियों व स्वयं सेवकों ने पहले ही इस विशेष बौद्धिक में शामिल होने की तैयारी की थी। लोग टीवी स्क्रीन, मोबाइल के सामने बैठ गए। स्वयं सेवकों ने संघ प्रमुख की बातों को सिर्फ श्रवण ही नहीं बल्कि डायरी में नोट भी किया। संघ के साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भारतीय मजदूर संघ, विश्व हिंदू परिषद, विद्या भारती, किसान संघ, सक्षम, आरोग्य भारती, स्वदेशी जागरण मंच, सेवा भारती, आरोग्य भारती के कार्यकर्ता व पदाधिकारी भी घर पर फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इस वर्ग में शामिल हुए।

क्षेत्र प्रचारक अनिल ने प्रांत व जिला स्तर पर मॉनिटरिंग की

प्रयाग विभाग में स्वयं क्षेत्र प्रचारक अनिल ने प्रांत स्तर एवं जिला स्तर पर मॉनिटरिंग कर रहे थे। शारीरिक प्रमुख गजेंद्र, सह प्रांत प्रचारक मुनीष, विभाग प्रचारक कृष्ण चंद्र, जार्जटाउन स्थित जिला संघ कार्यालय में प्रेम सागर ने हिस्सा लिया। प्रांत संघचालक डॉ. विश्वनाथ लाल निगम, सह प्रांत कार्यवाह आलोक मालवीय, प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ. मुरारजी त्रिपाठी, सह संपर्क प्रमुख शिव कुमार पाल, सह सेवा प्रमुख सत्य विजय, सद्भाव प्रमुख नागेंद्र, विभाग संघचालक प्रो. केपी सिंह, प्रचारक प्रमुख जय प्रकाश, सोशल मीडिया प्रमुख चारूमित्र, प्रांत प्रचार टोली के वसु पाठक भी सजीव प्रसारण में सपरिवार हिस्सेदारी निभाई। गंगापार और यमुनापार के प्रत्येक गांव में कार्यकर्ताओं ने बौद्धिक को अत्यंत रुचि के साथ सुना।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस