प्रयागराज, जागरण संवाददाता। पड़ोसी जनपद कौशांबी में एक घटना ने पुलिस और पब्लिक सबको अवाक और कर दिया है।  सरायअकिल थाना क्षेत्र के चित्तापुर गांव में बकाया पैसा वापस मांगने पर एक युवक ने दुकानदार को गालियां देते हुए धमकाया और फिर उसके शरीर पर बोतल से पेट्रोल डालकर आग लगा दी। फौरन आग बुझाकर परिवार के लोगों ने उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। गनीमत रही कि उसकी जान बच गई। खबर पाकर पहुंची सराय अकिल पुलिस ने जांच कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। नामजद मुकदमा लिखकर आरोपित शख्स को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे कौशांबी जिला कारागार भेज दिया गया है।

पहले उधारी चुकता करो, इतना सुनते ही धमकाने लगा वह

पुलिस के मुताबिक, घटनाक्रम यूं है। सराय अकिल थाना इलाके में चित्तापुर गांव निवासी जगलाल ने किराना की दुकान खोल रखी है। जगलाल की पत्नी कांती देवी ने बताया कि उसका बेटा शुभम भी दुकान में बैठता है। उसी गांव के राजुकमार ने दुकान से काफी सामान उधार ले रखा था लेकिन पैसे नहीं चुकता कर रहा। अब एक हजार रुपये से अधिक की उधारी हो चुकी थी। ऐसे में सोमवार रात जब राजकुमार दुकान में कुछ और सामान खरीदने के लिए पहुंचा  तो दुकान मालिक जगलाल के बेटे शुभम ने उससे कहा कि पहले वह बकाया पैसे जमा कर दे तब फिर आगे सामान दिया जा सकेगा।

बोतल में लाया पेट्रोल और डालकर लगा दी आग

सामान लेने से पहले पिछला बकाया जमा करने की बात पर राजकुमार बौखला गया। वह शुभम को गालियां देते हुए धमकाने लगा। तब आसपास मौजूद लोगों ने किसी तरह शांत कराकर राजकुमार को वहां से हटा दिया। मां कांती देवी का आरोप है कि कुछ देर बाद राजकुमार हाथ में पेट्रोल भरी बोतल लेकर आया और उनके बेटे शुभम के शरीर पर डालकर जलती दियासलाई फेंक दी। शुभम के कपड़ों में आग भड़क उठी। आग की लपटों में शुभम को घिरा देख वहां मौजूद लोगाें के होश उड़ गए। उन्होंने किसी तरह मोटे कपड़े डालकर आग बुझाई। गंभीर हालत में शुभम को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया और आरोपित को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। कुछ देर बाद खबर पाकर सराय अकिल थाने की पुलिस वहां पहुंची। पुलिस ने ग्रामीणों व स्वजनों से घटना के बारे में पूछताछ की और आरोपित राजकुमार को गिरफ्तार किया। कांती देवी की तहरीर पर पुलिस ने राजकुमार के खिलाफ रिपोर्ट लिखने के बाद न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। इस बीच हालत में सुधार होने पर शुभम को अस्पताल ले घर ले जाया गया है। गनीमत रही कि पड़ोसियों और आसपास के लोगों ने फौरन मोटे कपड़े डालकर आग बुझा दी थी वरना शुभम की जान पर खतरा हो सकता है। जल्द आग बुझा लेने से उसका कुछ ही हिस्सा झुलसा है। इस घटना से लोगों में आरोपित राजकुमार के खिलाफ भारी गुस्सा है।

Edited By: Ankur Tripathi