प्रयागराज, जागरण संवाददाता। एक तो साप्‍ताहिक बंदी उस पर लगातार हो रही बारिश ने सब्‍जी व्‍यापार पर लगाम लगा दिया है। शनिवार से ही हो रही झमाझम बारिश का असर सब्जियों की थोक बिक्री पर भी पड़ा है। रविवार की सुबह तेज बारिश होने से प्रयागराज के थोक सब्‍जी बाजार मुंडेरा सब्जी मंडी में फुटकर दुकानदार और ग्राहक सब्जियां खरीदने के लिए नहीं पहुंच सके। इससे सब्जियों की लगभग एक चौथाई बिक्री भी नहीं हो सकी। हालांकि सब्जियों का स्टाक थोक मंडी में आने वाले किसानों और व्‍यापारियों के पास भरा रहा।

बारिश व बिक्री न होने से सब्जियों के खराब होगी

बिक्री न होने से हरी सब्जियों के खराब होने की भी आशंका है। इसी तरह बारिश के होते रहने से फसल खराब हो जाने के कारण दो-तीन दिनों में सब्जियों की कीमतों में तेजी के भी आसार हैं। मंडी में सब्जियों की कीमतें काफी समय से लगभग स्थिर हैं। किसी रोज थोड़ा उतार-चढ़ाव भले हो जाता है लेकिन, सामान्य तौर पर रेट समान बने हैं।

आज सब्जियों के थोक रेट

रविवार को थोक में पत्ता गोभी 10 रुपये पीस, लौकी आठ से 10 रुपये पीस बिक रही है। खीरा 10 रुपये किलो, नेनुआ सात-आठ रुपये किलो, भिंडी 10 रुपये किलो, शिमला मिर्च 30 से 35 रुपये किलो, टमाटर 28 से 30 किलो है। वहीं जी-4 आलू 13-14 रुपये और कद्​दू का दाम आठ से 10 रुपये किलो रहा। परवल का दाम 17-18 रुपये किलो है।

सब्जियों के फुटकर दाम

फुटकर में परवल 30 से 40 रुपये किलो, कद्दू 30 रुपये किलो, प्याज 30 से 40 रुपये किलो, टमाटर 40 रुपये किलो, अरुवी 30 रुपये किलो, बैगन 30 से 40 रुपये किलो, आलू 20 रुपये किलो, नेनुआ 30 रुपये किलो, करैला 40 से 50 रुपये किलो बिक रहा है। लौकी 20 रुपये पीस है।

एक-दो दिन में सब्जियों के रेट बढ़ने की संभावना

मुंडेरा सब्जी एवं फल व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतीश कुशवाहा का कहना है कि बारिश के कारण सब्जी खरीदने के लिए लोग आए ही नहीं, जिससे सब्जियों की भरमार रही। बारिश का यही हाल रहा तो फसलें खराब होने से दो-तीन दिनों में सब्जियों की कीमतें बढ़ जाएंगी।

Edited By: Brijesh Srivastava