प्रयागराज, जेएनएन। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने कोविड 19 की सर्वे ड्यूटी में लगे बेसिक शिक्षा विभाग के अध्यापकों को रोस्टर के अनुसार ड्यूटी कराने का आग्रह किया है। जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में संघ के अध्यक्ष देवेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि कोविड ड्यूटी में माध्यमिक शिक्षा, मदरसा बोर्ड, संस्कृत पाठशाला व सहायता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षक भी लगाए जाएं। परिषदीय विद्यालय 20 मई तक बंद हैं। यदि 20 मई के बाद शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाती है तो शासन के आदेश के अनुसार उन्हें अवकाश दिनों में कार्य लेने के बदले उपार्जित अवकाश दिया जाए।

बेसिक के शिक्षकों एवं उनके स्‍वजनों के लिए अलग वैक्सीनेशन सेंटर हो

जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में मांग की गई है कि बेसिक के शिक्षकों एवं उनके परिवार के सदस्यों का वैक्सीनेशन प्राथमिकता के आधार पर कराया जाए। इनके लिए अलग केंद्र भी निर्धारित किए जाएं। इसमें 18 वर्ष से अधिक के सभी आयु वालों को टीकाकरण की व्यवस्था दी जाए।

जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में यह भी की गई मांग

महामारी के दौर में अब तक 46 बेसिक शिक्षक परिवार के सदस्यों की जान जा चुकी है। इसमें से 38 शिक्षक, सात शिक्षामित्र, एक अनुदेशक शामिल हैं। सभी मृतकों के परिवार वालों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी जाए। सभी पीडि़त शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, कर्मचारियों के परिवार के सदस्यों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी भी दी जाए। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि दूसरे जनपद से स्थानांतरित होकर आए शिक्षकों को भी अन्य जनपदों की तरह जिला स्तर से वेतन भुगतान किया जाए।