इलाहाबाद : इलाहाबाद विश्वविद्यालय में उपद्रव, आगजनी, तोड़फोड़ करने वाले छात्रनेताओं की तलाश में ताबड़तोड़ छापामारी की जा रही है। गिरफ्तार हुए 11 छात्रनेताओं को पुलिस ने रात में ही जेल भेज दिया। सभी के खिलाफ कर्नलगंज थाने में गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज हुई है। अब 400 अज्ञात छात्रों पर दर्ज मुकदमे को लेकर आरोपित छात्रों की पहचान कर दबिश दी जा रही है। पुलिस की जीप फूंकने की वजह से तीन टीमें दबिश दे रही हैं।

इंस्पेक्टर कर्नलगंज सत्येंद्र सिंह ने बवाल के दौरान छापामारी कर छात्रसंघ अध्यक्ष अवनीश यादव, उपाध्यक्ष चंद्रशेखर, महामंत्री निर्भय द्विवेदी समेत उदय, अभिषेक, अजय, कौशलेश, संकेत मिश्र और अनुराग को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ के बाद रात में ही छात्रनेताओं की पेशी कराने के बाद पुलिस ने सभी को जेल भेज दिया। दरअसल, पुलिस की गाड़ी फूंके जाने के बाद अफसरों ने सख्त रुख अपनाते हुए कार्रवाई शुरू की। छात्रनेताओं की गिरफ्तारी शुरू हुई तो वह ठंडे पड़े। देर रात तक छात्रनेताओं को छोड़े जाने का दबाव बनाया जाता रहा लेकिन पुलिस अधिकारी नहीं माने। यहां तक की पुलिस ने सुबह तक का इंतजार नहीं किया बल्कि उपद्रवी छात्रों को सबक सिखाने के लिए रात में ही नैनी सेंट्रल जेल भिजवा दिया। इंस्पेक्टर सत्येंद्र सिंह के मुताबिक, गाड़ी फूंकने वाले अन्य छात्रों की पहचान कर छापामारी की जा रही है। बता दें कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रावासों को खाली कराने के आदेश के बाद मंगलवार जमकर बवाल हुआ था। ¨हसक झड़पों, आगजनी, तोड़फोड़ के बाद हॉस्टल वॉशआउट का फैसला वापस ले लिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप