प्रयागराज, जेएनएन। यूपी टीईटी 2021 (शिक्षक पात्रता परीक्षा) में रविवार को प्रयागराज और प्रतापगढ़ जनपद में 15 लोगों को बतौर साल्वर मूल अभ्यर्थियों की जगह परीक्षा देते पकड़ा गया। प्रयागराज में 14 लोगों को क्राइम ब्रांच और एसटीएफ ने अलग-अलग जगह से पकड़ा है। प्रयागराज के औद्योगिक क्षेत्र में बड़ामार स्थित शिव बालक सिंह इंटर कालेज परीक्षा केंद्र में एसटीएफ की टीम ने सुबह की पाली में असल अभ्यर्थी की जगह सॉल्वर विजय बहादुर सरोज को पकड़ा। जौनपुर में सिकरारा के मीठीपार गांव के रामबहादुर ने बताया कि वह दीपक कुमार निवासी बिट्ठलपुर, सराय ममरेज, प्रयागराज की जगह परीक्षा दे रहा था। उसने कुबूला कि दीपक से उसका 35 हजार रुपये में परीक्षा देने की बात हुई थी। एडवांस पांच हजार रुपये दीपक ने दिए थे। रामबहादुर ने बताया कि वह जौनपुर से आकर यहां प्रयगराज के सलोरी में किराए के कमरे में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है। बीटीसी के बाद टीईटी की तैयारी कर रहा था। दीपक ने ही परीक्षा देने के लिए पैसों का प्रलोभन देकर फर्जी आधार कार्ड और प्रवेश पत्र तैयार कराकर एडवांस में पांच हजार देकर भेजा था। इसके अलावा 13 अन्य लोगों को प्रयागराज में अलग अलग केंद्रों से पकड़ा गया जिनसे पूछताछ की जा रही है।

उधर, प्रतापगढ़ के साकेत कालेज में पहली पाली में अभ्यर्थी के स्थान पर दूसरा शख्स यानी साल्वर  इलेक्ट्रानिक डिवाइस के साथ परीक्षा देते पकड़ा गया। उसे केंद्र प्रभारी ने पुलिस को सौंप दिया। अब पुलिस उससे पूछताछ कर रही है साथ ही असली अभ्यर्थी के बारे में भी पता लगाया जा रहा है ताकि पता चले कि इन दोनों के बीच यह डील कैसे हुई। इसके पीछे कोई गिरोह तो नहीं है। पुलिस ने बताया कि अंतू इलाके में डंडवा कल्याणपुर निवासी विवेक कुमार के स्थान पर कल्याणपुर गांव का अमरजीत वर्मा परीक्षा दे रहा था। इन दोनों के खिलाफ परीक्षा अधिनियम के तहत एफआइआर लिखकर छानबीन की जाएगी।  इसके साथ ही विलंब से पहुंचने के कारण तमाम अभ्यर्थियों की परीक्षा छूट गई। देर होने की वजह से परीक्षा में बैठने देने पर दो केंद्रों पर अभ्यर्थियों ने हंगामा किया। उन्हें किसी तरह संभाला गया।

देर होने पर हंगामा किया, फिर ज्ञापन देकर लौट गए

अंतू थाना क्षेत्र के कल्यानपुर निवासी अमरजीत वर्मा, डंड़वा कल्यानपुर अंतू निवासी विवेक कुमार के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। इसकी जानकारी होने पर केंद्र व्यवस्थापक ने उसे पुलिस को सौंप दिया। उधर मालती इंटर कालेज व एमडीपीजी कालेज में दो दर्जन से अधिक परीक्षार्थी विलंब से परीक्षा देने पहुंचे। उन्हें परीक्षा में शामिल नहीं किया गया तो वह हंगामा करने लगे। बाद में मौके पर पहुंचे एएसपी व बीएसए ने उनसे ज्ञापन लेकर उन्हें लौटाया।

Edited By: Ankur Tripathi