प्रयागराज, जेएनएन। यूपी चुनाव के लिए शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से जारी उम्मीदवारों की पहली सूची में 91 नाम है जिनमें प्रयागराज की दोनों प्रतिष्ठित सीट शहर पश्चिमी और शहर दक्षिणी के भी नाम हैं। दोनों कैबिनेट मंत्री दोबारा प्रत्याशी बनाए गए हैं लेकिन इसी बीच इलाहाबाद सीट की भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी को लेकर तमाम वाट्सएप ग्रुप पर मैसेज वायरल होने लगे कि लखनऊ कैंट से भाजपा से उम्मीदवारी नहीं मिलने पर वह समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर रहे हैं, हालांकि यह खबर अब तक महज अफवाह ही साबित हुई है क्योंकि इसकी कहीं से पुष्टि नहीं हुई है।

भाजपा सांसद रीता के प्रतिनिधि अभिषेक शुक्ला ने जागरण से फोन पर कहा कि यह खबर निराधार है और कोरी अफवाह है, मयंक सपा में नहीं जा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अभी तो भाजपा ने लखनऊ कैंट से नाम भी नहीं घोषित किया है तो यह बेवजह खबर फैलाई जा रही है। विरोधी दल के लोग ऐसे मैसेज फैलाते हैं।

सांसद रीता ने खुद मांगा था बेटे के लिए टिकट

मयंक जोशी के टिकट को लेकर चर्चाओं के पीछे दम है। वजह यह कि उनकी मां सांसद रीता जोशी ने पिछले दिनों दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलकर बेटे के लिए लखनऊ कैंट से विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मांगा था। साथ ही यह पेशकश भी की थी कि अगर पार्टी एक परिवार एक टिकट की नीति पर चलती है तो वह अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं क्योंकि अब वह भविष्ट में चुनाव लड़ने की इच्छुक भी नहीं हैं। तब जागरण से बात करते हुए रीता ने इसकी पुष्टि की थी और कहा कि उन्होंने बेटे के लिए टिकट मांगा हैं, पर नाराज नहीं हैं।

भाजपा में शामिल अपर्णा यादव भी हैं दावेदार

लखनऊ कैंट की सीट पर पेंच फंसने की पीछे एक वजह यह है कि कुछ दिन पहले भाजपा में शामिल हो चुकी सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भी इस सीट पर दावेदार हैं। वह लखनऊ कैंट से सक्रिय रही हैं। हालांकि इस मसले पर अभी पार्टी की ओर से कोई बयान नहीं आया है। 

Edited By: Ankur Tripathi