प्रयागराज, जेएनएन। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की प्रायोगिक परीक्षा का गुरुवार को ऐलान हो गया। इम्तिहान मंडलवार दो चरणों में होगा और उसकी सीसीटीवी कैमरे से निगरानी कराई जाएगी। पहले चरण की परीक्षा तीन फरवरी से शुरू हो रही है, जबकि दूसरा चरण 13 फरवरी से शुरू होकर 22 फरवरी तक चलेगा। इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए यूपी बोर्ड परीक्षकों की तैनाती करेगा। वहीं, हाईस्कूल में आंतरिक मूल्यांकन प्रधानाचार्य के माध्यम से कराया जाएगा।

यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने प्रायोगिक परीक्षा का विस्तृत कार्यक्रम जारी करते हुए सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। यूपी बोर्ड पहले ही हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की लिखित परीक्षाएं मार्च व अप्रैल में कराने का संकेत एकेडमिक कैलेंडर में दे चुका है। संभव है कि जल्द ही परीक्षा कार्यक्रम का भी ऐलान हो जाए।

50 प्रतिशत अंक आंतरिक व इतने ही वाह्य परीक्षक दे सकेंगे : यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि इंटरमीडिएट के प्रयोगात्मक विषयों में 50 प्रतिशत अंक आंतरिक परीक्षक व इतने ही अंक वाह्य परीक्षक देंगे। वहीं, व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के लिए जो कॉलेज प्रयोगात्मक परीक्षा के लिए निर्धारित होगा, वहां संबंधित विषयों के शिक्षक 50 प्रतिशत अंक आंतरिक मूल्यांकन के तहत देंगे और वाह्य परीक्षक भी इतने ही अंक दे सकेंगे।

सीसीटीवी की निगरानी : इंटरमीडिएट परीक्षा में पंजीकृत संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थियों की अनिवार्य विषय खेल व शारीरिक शिक्षा की प्रयोगात्मक परीक्षा विद्यालय स्तर पर प्रधानाचार्य की ओर से कराई जाएगी। सचिव ने बताया कि परीक्षा की शुचिता बनाए रखने के लिए प्रायोगिक परीक्षाएं सीसीटीवी की निगरानी में कराई जाएंगी। संबंधित रिकॉर्डिंग प्रधानाचार्य सुरक्षित रखेंगे और परिषद के मांगने पर क्षेत्रीय कार्यालय को उपलब्ध कराना होगा। 

हाईस्कूल में आंतरिक मूल्यांकन : हाईस्कूल की प्रयोगात्मक परीक्षा विद्यालय स्तर पर आंतरिक मूल्यांकन के तहत इस बार भी होंगी। व्यक्तिगत परीक्षार्थी अग्रसारण केंद्र के प्रधानाचार्य से संपर्क करके परीक्षा में शामिल होंगे। सचिव ने कहा कि हाईस्कूल की प्रयोगात्मक परीक्षा, नैतिक खेल व शारीरिक शिक्षा व इंटरमीडिएट के खेल व शारीरिक शिक्षा के प्राप्तांक कालेजों के प्रधानाचार्य के माध्यम से परिषद की वेबसाइट पर ऑनलाइन अपलोड किए जाएंगे। 25 जनवरी से वेबसाइट इस कार्य के लिए शुरू होगी।

शारीरिक दूरी का कड़ाई से अनुपालन : यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने आदेश दिया है कि परीक्षा में कोविड-19 से बचाव के सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाए। शारीरिक दूरी के साथ परीक्षाएं कराई जाएं।

परीक्षकों की तैनाती क्षेत्रीय कार्यालय से : परीक्षकों की नियुक्ति की सूचना कालेजों को क्षेत्रीय कार्यालयों से मिलेगी। परीक्षकों की सूची जल्द जारी होगी। इनकी तादाद 14 हजार के आसपास हो सकती है।

पहला चरण : तीन फरवरी से 12 फरवरी तक : आगरा, सहारनपुर, बरेली, लखनऊ, झांसी, चित्रकूट, फैजाबाद, आजमगढ़, देवीपाटन व बस्ती मंडल में।

दूसरा चरण : 13 फरवरी से 22 फरवरी तक : अलीगढ़, मेरठ, मुरादाबाद, कानपुर, प्रयागराज, मीरजापुर, वाराणसी व गोरखपुर में।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप