राज्य ब्यूरो, प्रयागराज। माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने इंटरमीडिएट के अंक पत्र क्षेत्रीय कार्यालयों में पहुंचा दिया है। जल्द ही यह स्कूलों में पहुंचा दिए जाएंगे और फिर इसका वितरण शुरू हो जाएगा। इसके बाद हाईस्कूल के अंक पत्र पहुंचाए जाएंगे।

18 जून को जारी किया गया था रिजल्ट

इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा 24 मार्च से 13 अप्रैल तक कराई गई थी। फिर से 24 अप्रैल से चार मई तक प्रयोगात्मक परीक्षा कराई गई। 27 अप्रैल से सात मई तक कापियों का मूल्यांकन हुआ था। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का परिणाम यूपी बोर्ड ने 18 जून को जारी कर दिया था। उसके बाद से अंक पत्रों को विद्यालयों में भेजने की प्रक्रिया शुरू हो गई। यूपी बोर्ड के अफसरों ने दावा किया था कि जून के आखिर तक स्कूलों में अंक पत्र पहुंचा दिए जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब तक इंटरमीडिएट के अंक पत्र क्षेत्रीय कार्यालयों में पहुंचाए गए हैं। वहां से जुलाई के पहले हफ्ते में स्कूलों में इसे पहुंचा जाएगा। उसके बाद इसका वितरण होगा। अंक पत्र मिलने के बाद ही विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रवेश मिलेगा। इसलिए उन्हें अंक पत्र का बेसब्री से इंतजार है। बोर्ड के अधिकारियों ने कहा कि जिन विद्यार्थियों के अंक पत्रों में कोई गड़बड़ी है, उसका वितरण स्कूल में ही रोक लिया जाएगा। फिर उसका संशोधन करके दिया जाएगा। पहली बार ऐसी व्यवस्था की गई है, इससे विद्यार्थियों को मामूली संशोधन के लिए बोर्ड के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

​​​​​अर्थ एवं संख्याधिकारी के चार पदों का परिणाम जारी

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने अर्थ एवं संख्याधिकारी के चार पदों का परिणाम जारी कर दिया है। साक्षात्कार के माध्यम से इन पदों पर चयन हुआ है।

अर्थ एवं संख्या प्रभाग, राज्य नियोजन संस्थान लखनऊ में अर्थ एवं संख्याधिकारी के रिक्त चार पदों को भरने के लिए यूपीपीएससी ने 2018-19 में विज्ञापन जारी किया था। इन पदों को भरने के लिए 27 जून 2022 को आयोग में साक्षात्कार कराया गया। साक्षात्कार के बाद बुधवार को आयोग के संयुक्त सचिव विनोद कुमार सिंह ने परिणाम जारी कर दिया। चयनितों में एक पद अनारक्षित और तीन पद ओबीसी वर्ग के लिए थे। उन्होंने बताया कि इसमें वेद प्रकाश सिंह, मसीहुद्दीन, मोहित कुमार बघेल और आलोक मौर्य का चयन हुआ है। इसमें मसीहुद्दीन का चयन औपबंधिक रूप से हुआ है। उन्हें वांछित प्रमाण पत्र जल्द से जल्द आयोग जमा करने को कहा गया है।

Edited By: Ankur Tripathi