प्रयागराज [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 के लिए पंजीकृत छात्र-छात्राओं को प्रोन्नति देने से पहले कालेजों के प्रधानाचार्यों को परीक्षार्थियों के नामों में त्रुटि सुधारने का अवसर दिया है। इसके लिए यूपी बोर्ड 14 और 15 जून को वेबसाइट खोल रहा है। दो दिन में ही सभी कालेजों को यह प्रक्रिया पूरी करनी है।

यूपी बोर्ड 2019 तक हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में पंजीकृत छात्र-छात्राओं व उनके माता-पिता का नाम अंकसह प्रमाणपत्र पर सिर्फ अंग्रेजी में ही लिखता रहा है। हाई कोर्ट के आदेश पर इन सभी का नाम 2020 से हिंदी में भी लिखा जाने लगा है। यह कदम इसीलिए उठाया गया कि बाद में नाम में संशोधन की जरूरत न पड़े, इसीलिए बोर्ड ने पिछले साल भी कई चरणों में त्रुटि सुधार के लिए वेबसाइट खोली थी। अब 2021 का परिणाम जारी करके अंकसह प्रमाणपत्र वितरित किया जाएगा, जिसके लिए तैयारियां तेज हो गई हैं।

यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल का जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिया है कि विद्यालय अभिलेख जैसे, आवेदनपत्र व छात्र पंजिका आदि के आधार पर छात्र-छात्राओं व उनके माता-पिता के नाम की वर्तनी अंग्रेजी व हिंदी दोनों भाषाओं में सुधारी जाए। निर्देश है कि नाम में पूर्ण परिवर्तन नहीं किया जा सकेगा, साथ ही हिंदी व अंग्रेजी में दर्ज नामों में एकरूपता होना आवश्यक है। इसके लिए वेबसाइट सोमवार व मंगलवार को खुली रहेगी। डीआइओएस प्रधानाचार्यों को निर्देश दें कि वे त्रुटियों को चिन्हित करके सूची बना लें, ताकि तय समय में कार्य पूरा हो जाए। इसमें शिथिलता बरतने पर संबंधित अधिकारी व प्रधानाचार्य उत्तरदायी होंगे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप