प्रयागराज, जेएनएन। यूपी बोर्ड की परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गई है। इस परीक्षा में प्रशासन और विद्यार्थी दोनों की तैयारियों का कड़ा इम्तिहान है। जिले में सकुशल और नकलविहीन परीक्षा के लिए केंद्रों में सीसीटीवी, वायस रिकॉर्डर, ब्राडबैंड, राउटर के पुख्ता इंतजाम के साथ जोनल, सेक्टर और स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। सचल यानी उड़ाका दल भी नजर गड़ाए रहेगा। पहले दिन प्रशासन का ज्यादा तगड़ा इम्तहान रहा। आज यानी मंगलवार को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों की परीक्षाएं रहीं।

केंद्रों की ऑनलाइन मॉनीटरिंग

परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन निगरानी के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक और प्रदेश स्तर पर निदेशक (माध्यमिक शिक्षा) कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। जनपदीय कंट्रोल रूम का प्रभारी सह जिला विद्यालय निरीक्षक केके त्रिपाठी को बनाया गया है।

जिले में 208731 विद्यार्थियों की परीक्षा

हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में कुल 208731 विद्यार्थी शामिल हो रहे हैं। हिंदी की परीक्षा के लिए दो पालियों में व्‍यवस्‍था की गई। पहली सुबह आठ से 11.15 और दूसरी दोपहर दो से शाम 5.15 बजे तक होगी।

इस बार कम हो गए 15286 छात्र-छात्राएं

पिछले वर्ष की तुलना में इस बार बोर्ड परीक्षा में 15286 छात्र-छात्राएं कम हो गए। हाईस्कूल में 7221 और इंटरमीडिएट में 8065 विद्यार्थी कम हुए हैं। पिछले वर्ष 224017 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी।

खास बातें

108777 छात्र-छात्राएं हाईस्कूल में

108375 विद्यार्थी संस्थागत

402 छात्र-छात्राएं व्यक्तिगत

99954 छात्र-छात्राएं इंटरमीडिएट में

97568 छात्र-छात्राएं संस्थागत

2386 छात्र-छात्राएं व्यक्तिगत

285 परीक्षा केंद्र हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के

274 परीक्षा केंद्र छात्राओं के लिए स्वकेंद्र

12 राजकीय, 127 अशासकीय सहायता प्राप्त, 146 वित्तविहीन बने परीक्षा केंद्र

13 परीक्षा केंद्र संवेदनशील

27 अति संवेदनशील

04 जोनल मजिस्ट्रेट

04 सेक्टर मजिस्टे्रट

40 स्टेटिक मजिस्ट्रेट

08 सचल दल।

इस पर भी नजर डालें

285 केंद्र व्यवस्थापक,13 हजार  शिक्षक संभालेंगे परीक्षा की कमान

- माध्यमिक के साथ ही बेसिक के टीचर भी बनाए हैं कक्ष निरीक्षक

- प्रत्येक कक्ष में की गई है दो कक्ष निरीक्षकों की ड््यूटी की व्यवस्था। 

आंकड़े एक नजर में

10542 माध्यमिक शिक्षकों की ड्यूटी, 274 सेंटरों पर नियुक्त किए गए हैं बाहरी केंद्र व्यवस्थापक

3075 राजकीय और अशासकीय सहायता प्राप्त शिक्षकों की ड्यूटी जिसमें 2232 पुरुष और 843 महिला शिक्षक

7467 वित्तविहीन सहायता प्राप्त शिक्षकों की ड्यूटी जिसमें 5160 पुरुष और 2307 महिला शिक्षक

2530 बेसिक शिक्षकों की ड्यूटी जिसमें 1771 पुरुष और 759 महिला शिक्षक।

285 केंद्र व्यवस्थापक और 13072 कक्ष निरीक्षकों के जिम्‍मे परीक्षा

जिले में बोर्ड परीक्षा की कमान 285 केंद्र व्यवस्थापक और 13072 कक्ष निरीक्षक संभाल रहे हैं। माध्यमिक के साथ बेसिक के शिक्षकों को भी कक्ष निरीक्षक बनाया गया है। प्रत्येक कक्ष में दो कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी है। शिक्षकों की कमी से सभी केंद्रों पर एक आंतरिक और एक वाह्य शिक्षकों की ड्यूटी का नियम लागू नहीं हो सका है। केंद्रों में 10542 माध्यमिक और 2530 बेसिक शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। उन परीक्षा केंद्रों पर 274 बाहरी केंद्र व्यवस्थापकों की ड्यूटी लगाई गई, जहां छात्राओं के लिए स्वकेंद्र की व्यवस्था है।

केंद्रों के समीप फोटो स्टेट पर प्रतिबंध

प्रत्येक केंद्र व्यवस्थापकों को निर्देश दिए हैं कि परीक्षा अवधि में सीसीटीवी कैमरे बंद न होने पाएं। कैमरे की रिकार्डिंग 15 दिनों तक सुरक्षित रखें। परीक्षा अवधि में प्रबंधक अथवा अनाधिकृत व्यक्तियों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित रहेगा। पाठ्य सामग्री, मोबाइल, सेल्युलर, शस्त्र आदि परीक्षा केंद्र में लेकर जाना निषिद्ध है। केंद्रों के आसपास परीक्षा अवधि में लाउड स्पीकर और फोटो स्टेट पर भी प्रतिबंधित है।

कंट्रोल रूम से परखी गई केंद्रों की व्यवस्था

जिला कंट्रोल रूम से केंद्रों की व्यवस्था परखी जा रही है। कंट्रोल रूम में बैठे जिला विद्यालय निरीक्षक और सह जिला विद्यालय निरीक्षक सोमारू प्रधान ब्लॉकवार एक-दो केंद्रों की व्यवस्थाओं को ऑनलाइन को परखा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस