प्रयागराज, जेएनएन। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की 2020 की परीक्षा आज खत्म हो रही है। हाईस्कूल की परीक्षाएं तीन मार्च को ही पूरी हो चुकी हैं, जबकि इंटर की परीक्षा दूसरी पाली में इम्तिहान के साथ पूरी हो जाएंगी। 

इस बार की परीक्षा में नकल रोकने के जिस तरह के इंतजाम किए थे वह कसौटी पर पूरी तरह से खरे नहीं उतर सके। इसी कारण पेपर आउट और केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे न चलने के तमाम आरोप लगे हालांकि बोर्ड ने उनमें से कुछ ही की पुष्टि की। इसी कारण पांच जिलों के 72 केंद्रों पर कुछ विषयों की दोबारा परीक्षा कराई जा रही है।

हाईस्कूल व इंटर की परीक्षाओं में इस वर्ष क्रमांकित कॉपियों का केंद्रों से निकलकर बाहर जाना सबसे अधिक चर्चा में रहा। कई जिलों में पुलिस, एसटीएफ व प्रशासन की टीमों ने कॉपियां लिखते लोगों को पकड़ा। ज्ञात हो कि जिलों में पूरी परीक्षा क्रमांकित कॉपियों पर इसीलिए कराई गई, ताकि कॉपियों की अदला-बदली न हो सके। नकल माफियाओं ने इस पर पूरी तरह से पानी फेर दिया। कुछ जिलों में गलत पेपर भी बांटे जाने की शिकायतें मिलीं। मुख्य गेट से लेकर परीक्षा कक्षों में नकल रोकने के पुख्ता इंतजाम थे, फिर भी नकलचियों की तादाद कम नहीं हो सकी, बल्कि प्रदेश भर में 400 परीक्षार्थी अनुचित साधन के साथ पकड़े गए हैं।

इंटर की परीक्षा में गुुरुवार को भी दो बालक अनुचित साधन के साथ पकड़े गए हैं। 233 फर्जी परीक्षार्थी, केंद्र व्यवस्थापक, कक्ष निरीक्षक, प्रबंधक व अन्य कर्मचारियों पर एफआइआर दर्ज कराई गई है। आश्चर्यजनक तरीके से कई जिलों में लगातार फर्जी परीक्षार्थी मिलते गए। बोर्ड प्रशासन के निर्देश पर क्षेत्रीय कार्यालयों में कई दिन तक उनके अभिलेखों की गहन स्क्रीनिंग हुई थी।

इस बार की बोर्ड परीक्षा में पिछले वर्ष की अपेक्षा करीब दो लाख परीक्षार्थी कम थे, इससे अनुमान लगाया जा रहा था कि परीक्षा छोड़ने वालों की संख्या काफी कम रहेगी। उसके बाद भी आंकड़ा बढ़कर 4,68,804 तक पहुंच चुका है इसमें 674 परीक्षार्थियों ने गुरुवार को ही परीक्षा से किनारा किया है, जबकि अभी शुक्रवार की परीक्षा होनी शेष है। हालांकि अब तक की कुल संख्या पिछले वर्ष की अपेक्षा कम है, ज्ञात हो कि पिछले वर्ष करीब 12 लाख परीक्षार्थियों ने इम्तिहान छोड़ दिया था। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस