प्रयागराज,जेएनएन: इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली के लिए निवर्तमान छात्रसंघ अध्यक्ष उदय प्रकाश यादव ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से लखनऊ में मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने छात्रसंघ बहाली के आंदोलन की वर्तमान स्थिति से भी उन्हें अवगत कराया। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा छात्रसंघ लोकतंत्र की नर्सरी है। उसे भंग नहीं किया जा सकता है। ऐसा करना लोकतंत्र की हत्या के समान है। इसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने छात्रसंघ बहाली के आंदोलन को अपना पूर्ण समर्थन दिया और जल्द ही अपना प्रतिनिधिमंडल भेजने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान समाजवादी छात्रसभा के जिलाध्यक्ष अखिलेश गुप्ता, छात्रसंघ पूर्व उपाध्यक्ष आदिल हमजा, अजीत यादव आदि रहे।

निवर्तमान अध्यक्ष उदय समेत 10 छात्रनेताओं पर मुकदमा :

इलाहाबाद विश्वविद्यलय में छात्रसंघ बहाली समेत सात सूत्रीय मांगों के समर्थन में आंदोलनरत निवर्तमान छात्रसंघ अध्यक्ष उदय प्रकाश यादव समेत 10 छात्रनेताओं के खिलाफ कर्नलगंज थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है। यह मुकदमा इविवि के चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे की तहरीर पर दर्ज किया गया है।

दरअसल, पिछले दिनों इविवि प्रशासन ने डीएम और एसएसपी को पत्र लिखा था। पत्र में इविवि के चीफ प्रॉक्टर प्रो. राम सेवक दुबे ने कहा के आंदोलन की वजह से इविवि में अराजकता का माहौल बन गया है। इससे पठन-पाठन का माहौल खराब हो रहा है। उन्होंने इस मामले में छात्रसंघ के निवर्तमान अध्यक्ष उदय प्रकाश यादव, उपाध्यक्ष अखिलेश यादव, महामंत्री शिवम सिंह, पूर्व अध्यक्ष रोहित मिश्र, विक्रांत सिंह, अदील हमजा, अखिलेश गुप्ता, अजीत कुमार यादव, अतेंद्र सिंह, सत्यम सिंह को नामजद किया है। इसके अलावा 25 अज्ञात के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप