प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज के कीडगंज थाना इलाके में भाजपा विधायक संजय गुप्ता के रिश्तेदार की हत्या के मामले में अभी भी दो आरोपित पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस तमाम कोशिश कर रही है, लेकिन वे अभी भी फरार हैं। वहीं दूसरी तरफ दोनों के कोर्ट में आत्मसमर्पण करने की सुगबुगाहट भी है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि दोनों को गिरफ्तार किया जाएगा। वे न्यायालय में आत्मसमर्पण नहीं कर पाएंगे। उधर, अभी तक दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी न होने पर मृतक के स्वजन पुलिस की कार्रवाई पर अंगुली उठा रहे हैं।

30 दिसंबर को प्रयागराज में हुई थी सनसनीखेज घटना

कीडगंज थानांतर्गत बीच वाली सड़क निवासी संदीप गुप्ता भाजपा विधायक संजय गुप्ता के रिश्तेदार हैं। संदीप चाट की दुकान लगाते हैं। इसमें उनका भाई राजन भी मदद करता था। पिछले वर्ष 30 दिसंबर को आबकारी विभाग के निलंबित सिपाही विमलेश पांडेय आदि से संदीप का विवाद हो गया। इसमें राजन भी आ गया। विमलेश ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से फायरिंग कर दी थी, जिसमें राजन की मौत हो गई थी, जबकि संदीप व दो अन्य लोग जख्मी हो गए थे। मामले में विमलेश, सतीश पांडेय, संदीप पांडेय, राहुल पांडेय को नामजद किया गया था।

25-25 हजार का इनाम किया गया था घोषित

नामजद कराए गए सभी चारों आरोपितों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। जांच में कीडगंज निवासी कृष्ण मुरारी उर्फ लाली का नाम भी प्रकाश में आया था। पिछले दिनों पुलिस ने विमलेश, सतीश और लाली को गिरफ्तार करते हुए हत्या में प्रयुक्त रिवाल्वर बरामद की थी। हालांकि राहुल और संदीप पांडेय पुलिस के हाथ नहीं लगे थे। घटना के दो सप्ताह से अधिक का समय बीत चुका है। और दोनों पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

Edited By: Brijesh Srivastava