प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस  महामारी के कारण करीब दो-ढाई महीने लॉकडाउन और उसके बाद के हालात से बाजार 'बेदमÓ हो गया। नवरात्र में बाजार थोड़ा चढ़ा था मगर, इधर फिर सुस्त हो गया। अब बाजार में दीपावली की खरीदारी शुरू हो रही है। ऐसे में व्यापारियों ने शासन-प्रशासन से मांग है कि साप्ताहिक बंदी से छूट दी जानी चाहिए। इससे सरकारी कर्मचारियों, प्रतिष्ठानों के लोगों और ग्रामीणों को भी खरीदारी का भरपूर मौका मिलेगा।

लॉकडाउन में करीब दो-ढाई महीने बाजार पूरी तरह से बंद रहा। आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर किसी तरह का कारोबार नहीं हुआ। अनलॉक से बाजार खुलने की छूट मिली लेकिन रोस्टर के मुताबिक दुकानें खुल रही थीं। उसमें भी कभी चार तो कभी छह घंटे ही कारोबार करने की अनुमति मिल सकी। इससे कारोबार चौपट हो गया। दीपावली और सहालग के लिए खरीदारी शुरू हो गई है। लिहाजा, बाजार में तेजी बरकरार रखने के लिए साप्ताहिक बंदी से छूट मिलनी जरूरी है। क्योंकि, दीपावली के बाद बाजार किस करवट बैठेगा, इसको लेकर व्यापारियों में संशय बना है।  

क्या चाहते हैं कारोबारी

सिटी स्टाइल के प्रोपराइटर सुमित सिंह का कहना है कि दीपावली की खरीदारी के लिए बाजार में चहल-पहल बढऩे लगी है। इसलिए बाजार को साप्ताहिक बंदी से छूट मिलनी चाहिए। सरकारी बंदी के दिन ग्राहक खरीदारी के लिए निकलते हैं। शराब की दुकानें 10 बजे तक खुल रही हैं। अन्य सेक्टर की दुकानें नौ बजे तक खुलने की ही इजाजत है। पीसी ज्वेलर्स के स्टोर इंचार्ज रितुराज सिंह का कहना है कि जब तक त्योहार चल रहा है तक तक साप्ताहिक बंदी से छूट मिलनी चाहिए। मध्यम वर्गीय परिवार, गांव के लोग भी छुट्टी के दिन खरीदारी करने निकलते हैं। इसलिए रविवार को बाजार खुलने पर  नवरात्र के बाद बाजार जो थोड़ा सुस्त हो गया है, उसमें तेजी आएगी।  मेगा इलेक्ट्रानिक्स प्रोपराइटर विजय कुमार अग्रवाल का कहना है कि रविवार को सरकारी कार्यालय और बहुत सारे प्रतिष्ठान भी बंद रहते हैं। ऐसे में कर्मचारियों और प्रतिष्ठान के लोगों को रविवार को खरीदारी का समय मिलता है।  रविवार को बाजार खुलने पर वह परिवार के साथ आकर अच्छे से सामान देख सकेंगे और खरीदकर ले जाएंगे। हुंडई मोटर्स के सेल्स मैनेजर आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि त्योहार तक तो कम से कम साप्ताहिक बंदी से छूट मिलनी चाहिए। इससे लोगों को खरीदारी करने में सहूलियत होगी। सरकारी कर्मचारियों को खरीदारी के लिए रविवार अथवा छुट्टी में ही मौका मिलता है। ऐसे में साप्ताहिक बंदी में बाजार खुलने पर उन्हें मनपसंद सामान खरीदने का मौका मिलेगा।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021