प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद कौशांबी के सैनी कोतवाली क्षेत्र में महिला की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। वह मंगलवार की रात में शौच के लिए घर से निकली थी। वहीं, महुआ के विवाद में दो सगे भाई एक-दूसरे के खून के प्यासे हो गए। मंगलवार की रात बात बढ़ी तो एक भाई और उसके परिवार के अन्य लोगों ने मिलकर दूसरे भाई की लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी। जबकि, आसमान पर छाए बादलों ने सूर्य की गर्मी कम कर दी है। दोपहर में धूप तो खिली है लेकिन गर्मी में कल वाली तेजी नहीं है। मंगलवार तक न्यूनतम पारा भी बढ़कर 23.3 डिग्री सेल्सियस हो गया था।

 कौशांबी के सैनी में धारदार हथियार से विवाहिता की हत्या, खेत में मिली लाश

पड़ोसी जनपद कौशांबी के सैनी कोतवाली क्षेत्र में महिला की धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। वह मंगलवार की रात में शौच के लिए घर से निकली थी। उसकी खेत में रक्तरंजित लाश मिली। सैनी कोतवाली के रूपनारायाणपुर गोरियों गांव निवासी उदय पटेल की 30 वर्षीय पत्नी विमला देवी मंगलवार की रात में घर से शौच के लिए खेत की ओर गई थी।  वहीं पर हत्यारों ने विमला देवी की धारदार औजार से वार कर हत्या कर दिया। उधर जब काफी देर तक विमला देवी घर नहीं लौटी तो परिवार के लोग परेशान हो गए। उसकी खोजबीन के लिए स्वजन और ग्रामीण निकले तो खेत में रक्तरंजित लाश मिली। हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस से शव को कब्जे में ले लिया। पति की तहरीर पर पुलिस घटना की जांच कर रही है।

छोटी सी बात पर सगा भाई खून का प्यासा हुआ, लाठी से पीटकर की हत्या

जिले के लालगोपालगंज में महुआ के विवाद में दो सगे भाई एक-दूसरे के खून के प्यासे हो गए। मंगलवार की रात बात बढ़ी तो एक भाई और उसके परिवार के अन्य लोगों ने मिलकर दूसरे भाई की लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी। विवाद दोपहर में ही शुरू हुआ था। रात करीब 10 बजे मामले ने जब तूल पकड़ा तो श्रीकांत ने अपने परिवार के साथ मिलकर राड और लाठी-डंडे से अपने सगे भाई लक्ष्मीकांत सरोज पर हमला बोल दिया। आरोप है कि श्रीकांत सरोज पुत्र रामसुमेर, कलावती पत्नी श्रीचंद, सरिता पुत्री श्रीचंद और भतीजा अवधेश ने मिलकर लाठी-डंडे से पीट-पीटकर 40 वर्षीय लक्ष्मीकांत सरोज पुत्र राम सुमेर को मौत के घाट उतार दिया। युवक की मौत के बाद दोनों पक्ष आक्रोशित होकर एक बार फिर आमने-सामने हो गए।

तमतमाए सूरज की गर्मी को बादलों ने रोका, पारा पहुंच गया था 43 डिग्री सेल्सियस के पारा

 कोरोना वायरस के कहर के बीच सूरज भी तमतमा उठा था। पिछले कुछ दिनों से बैरोमीटर में पारा चढ़ता ही जा रहा था। आलम यह हो गया कि मंगलवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा पहुंचा था। हालांकि बुधवार की सुबह से आसमान पर छाए बादलों ने सूर्य की गर्मी कम कर दी है। दोपहर में धूप तो खिली है लेकिन कल वाली तेजी नहीं है। मंगलवार तक न्यूनतम पारा भी बढ़कर 23.3 डिग्री सेल्सियस हो गया था। सोमवार की तुलना में मंगलवार को अधिकतम और न्यूनतम पारा में 2.1 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज हुई। मौसम विज्ञानी प्रोफेसर सविंद्र सिंह का कहना है कि अफगानिस्तान और पाकिस्तान से चली पछुआ हवा धीमी पडऩे से अब पारा और चढ़ेगा। पछुआ हवा के तेज होने पर लू चलने लगेगी। हालांकि बादलों की संभावना भी जताई गई थी।  

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस