प्रयागराज,जेएनएन। एक अयोध्या प्रयागराज में भी है, और यहां भी राम मंदिर के निर्माण की तैयारी हो रही है। इस अयोध्या में भगवान जन्मे नहीं तो क्या हुआ, हर मन और तन में बसे हैैं। वहीं, यमुनापार में सिंचाई की समस्या से हलकान अन्नदाता के दिन बहुरने वाले हैं। उनके खेतों को पर्याप्त पानी मिल सकेगा। सिंचाई के लिए होने वाले विभिन्न नहरों के खंड के विवादों पर विराम भी लगेगा।जबकि, एडीजी जोन प्रेम प्रकाश अचानक शिवकुटी थाने पहुंचे तो उन्हें वहां तमाम खामियां मिलीं। एडीजी ने नाराजगी ने जताते हुए एसपी सिटी से रिपोर्ट मांगी है। एडीजी ने ट्रक ड्राइवर को थाने में पीटने के मामले में एक सिपाही पर भी कार्रवाई को कहा है।

 प्रयागराज में भी है एक Ayodhya, यहां भी हो रही राम मंदिर के निर्माण की तैयारी

एक अयोध्या प्रयागराज में भी है, और यहां भी राम मंदिर के निर्माण की तैयारी हो रही है। इस अयोध्या में भगवान जन्मे नहीं तो क्या हुआ, हर मन और तन में बसे हैैं। बस्ती के हर व्यक्ति के नाम में श्रीराम नाम समाहित हैैं। रामनामकरण की यह परंपरा भी उतनी ही पुरानी है, जितनी कि यहां मौजूद श्रीराम की अनेक मूर्तियां।इस अयोध्या की हर गली, चट्टी और चौराहे पर भगवान का ही नाम सुनाई पड़ता है। हर व्यक्ति का नाम राम नाम पर है- यहां रामशिरोमणि हैं तो रामअभिलाष और राममनोरथ भी हैं...। प्रयागराज नगर से 70 किमी दूर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की सीमा पर बेलन नदी के तट पर अयोध्या गांव बसा है। कोरांव तहसील मुख्यालय से लगभग 10 किमी दूर स्थित अयोध्या गांव से होकर राष्ट्रीय राजमार्ग 135-सी गुजरता है। अति प्राचीन बेलन नदी अयोध्या गांव से होकर बहती हैै। यहां खोदाई में मिली प्राचीन राम मूर्तियों को अब राम मंदिर में प्रतिष्ठापित किया जाएगा, जिसकी तैयारी चल रही है। 

यमुनापार के डेढ़ लाख किसानों के अब बहुरेंगे दिन

 यमुनापार में सिंचाई की समस्या से हलकान अन्नदाता के दिन बहुरने वाले हैं। उनके खेतों को पर्याप्त पानी मिल सकेगा। सिंचाई के लिए होने वाले विभिन्न नहरों के खंड के विवादों पर विराम भी लगेगा। यमुनापार के तीन नहर खंड टोंस, बेलन व बाघला बाणसागर नहर परियोजना में शामिल करने के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा है। इससे लगभग 40 हजार हेक्टेयर भूमि की सिंचाई आसान हो जाएगी, जिससे लगभग डेढ़ लाख किसानों को लाभ होगा। यमुनापार के मेजा, मांडा, उरुवा, कोरांव, नारीबारी, कौंधियारा, करछना, जसरा, चाका, शंकरगढ़, बारा, खीरी आदि इलाके में बेलन, बाघला व टोंस पंप कैनाल से सिंचाई का पानी जाता है। बाणसागर नहर परियोजना में शामिल होंगे तो तीनों की सर्किल एक होगी। यही नहीं बाणसागर नहर परियोजना के मुख्य अभियंता का कार्यालय प्रयागराज में ही होने से नियंत्रण और खंडों के बीच सामंजस्य बेहतर हो सकेगा। बाणसागर नहर परियोजना के मुख्य अभियंता दिव्यकृष्ण मिश्र ने बताया कि नहरों का सही समय पर संचालन होगा तो फसलों का उत्पादन बढ़ेगा। प्रस्ताव शासन को भेजा है। इससे यमुनापार के किसानों को सिंचाई की दिक्कत नहीं होगी।

एडीजी जोन को निरीक्षण में शिवकुटी थाने में मिली ढेरों खामियां, लगाई फटकार

एडीजी जोन प्रेम प्रकाश अचानक शिवकुटी थाने पहुंचे तो उन्हें वहां तमाम खामियां मिलीं। एडीजी ने नाराजगी ने जताते हुए एसपी सिटी से रिपोर्ट मांगी है। एडीजी ने ट्रक ड्राइवर को थाने में पीटने के मामले में एक सिपाही पर भी कार्रवाई को कहा है। एडीजी जोन दोपहर में शिवकुटी थाने पहुंचे तो एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव भी आ गए। थाना प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मी उस वक्त थाने में नहीं थे। खबर पाकर थाना प्रभारी भी आ गए। एडीजी को अभिलेखों के रखरखाव और सफाई में कमी मिली।   समाधान दिवस पर लोगों को सूचना के लिए फ्लेक्सी नहीं लगाया गया था। पुलिसकर्मियों की थाने से अनुपस्थिति पर नाराजगी जताते हुए एडीजी ने अवकाश पर गए लोगों की जानकारी ली। इसमें भी कमी मिली तो एडीजी ने एसपी सिटी से जांच कर रिपोर्ट देने को कहा। थाने में एडीजी को पुलिस की पिटाई से जख्मी ट्रक ड्राइवर मनोज मिश्रा मिला। उसने बताया कि रात में चेकिंग के नाम पर थाने के सामने ट्रक  रोककर सिपाही प्रवीण कुमार सिंह ने पैसों की मांग की। उसने पैसे नहीं दिए तो खंभे से बांधकर पीटा जिससे उसकी कमर पर स्याह निशान बन गए। एडीजी ने एसपी सिटी को इस घटना की भी जांच कर कार्रवाई के लिए कहा। एसपी सिटी ने जागरण को बताया कि सिपाही के खिलाफ रिपोर्ट भेजी जा रही है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस