प्रयागराज, जेएनएन । पडोसी जनपद कौशांबी में आठ साल की मासूम बच्ची से दुष्‍कर्म का मामला सामने आया है। बच्‍ची के साथ पड़ोसी गांव के एक युवक ने घिनौनी हरकत को अंजाम दिया। आरोपित को पुलिस ने पकड लिया है। वहीं, प्रतापगढ़ जनपद में करंट से किशोरी की मौत से लोग आक्रोशित हो गए। मंगलवार की सुबह स्वजनों व ग्रामीणों ने रास्ताजाम कर दिया। समझाने पर जब बात नहीं बनी तो पुलिस अधिकारियों के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष के समझाने पर लोग माने। जबकि, माघ मेले में आए श्रद्धालुओं को खाना खिलाने के लिए साधु-संतों के शिविरों में नित्‍य भंडारे का आयोजन किया जा रहा है। भंडारे में रोज लाखों लोगों के पेट की क्षुधा शांत होती है।

 आठ साल की मासूम बच्‍ची से दुष्कर्म, पुलिस ने आरोपित को किया गिरफ्तार

पडोसी जनपद कौशांबी में आठ साल की मासूम बच्ची से दुष्‍कर्म का सामने आया है। बच्‍ची के साथ पड़ोसी गांव के एक युवक ने घिनौनी हरकत को अंजाम दिया। मासूम की चीख पुकार सुनकर गांव के लोग जुट गए। ग्रामीणों ने आरोपित युवक को पकड़ लिया, और उसकी जमकर पिटाई कर दिया। घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची।कोखराज पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार कर मामले की छानबीन में जुट गई। स्थानीय पुलिस के अलावा पुलिस अधीक्षक ने भी फील्ड यूनिट टीम के साथ घटना स्थल का मुआयना किया। पुलिस ने रेप के आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। पीड़िता को डॉक्टरी परीक्षण और उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है। वहीं घटना के बाबत पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने बताया कि घटना स्थल की जांच के बाद आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता के परिजनों के तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर पीड़िता का डॉक्टरी परीक्षण व उपचार कराया जा रहा है।

प्रतापगढ़ में करंट से किशोरी की मौत, मार्ग पर शव रख लगाया जाम 

प्रतापगढ़ जनपद में करंट से किशोरी की मौत से लोग आक्रोशित हो गए। मंगलवार की सुबह स्वजनों व ग्रामीणों ने रास्ताजाम कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस के समझाने पर जब बात नहीं बनी तो पुलिस अधिकारियों के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष के समझाने पर लोग माने। आर्थिक मदद के आश्वासन के बाद लोगों का आक्रोश शांत हुआ। जेठवारा थाना क्षेत्र के खटवारा झलिहन का पुरवा गांव निवासी मन्नालाल की बेटी 13 वर्षीय खुशी पटेल रविवार की शाम खेत की तरफ गई हुई थी। वहां खेत में  लगे बाड़ में उतरे करंट की चपेट में आने से खुशी की मौत हो गई थी। सोमवार की शाम उसका शव घर पहुंचा तो परिजनों ने  मुंबई में रह रहे पिता के पहुंचने  पर मंगलवार की सुबह अंतिम संस्कार की बात कही थी। पिता के पहुंचने का इंतजार किया जा रहा था। पिता मन्नालाल के आने के बाद मंगलवार की सुबह परिजन शव लेकर खुशी के परिवार के लोग व ग्रामीण बाबूगंज-डेरवा मार्ग पर पहुंचे। उन्होंने शव रखकर मार्ग पर जाम लगा दिया।

 माघ मेला में भंडारा : 15 घंटे की मेहनत से सेवादार बनाते हैं लाखों लोगों का खाना 

माघ मेले में आए श्रद्धालुओं को खाना खिलाने के लिए साधु-संतों के शिविरों में नित्‍य भंडारे का आयोजन किया जा रहा है। भंडारे में रोज लाखों लोगों के पेट की क्षुधा शांत होती है। इस काम को अंजाम देते हैं कारीगर, जिन्‍हें सेवादार कहा जाता है। वह घर, परिवार और अपने निजी काम-धंधे महीने भर के लिए बंद कर प्रयागराज में रहते हैं। रसोई में रोजाना 12 से 15 घंटे तक पूरी शिद्दत से जुटे हैं। यह कई आश्रमों के सेवादार हैं। सेवादारों का भाव है कि भूखे लोगों का पेट भर जाए, इससे बड़ा गंगा स्नान और पुण्य क्या हो सकता है।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस