प्रयागराज, जेएनएन। सराय ममरेज थाने के दारोगा एक मुकदमे के पीड़ित का बयान दर्ज करने के लिए शुक्रवार को जिला न्यायालय आए थे। वहां एसीजेएम सात की कोर्ट में कहासुनी के बाद वकीलों ने पिटाई कर दी। माघ मेला क्षेत्र में करीब 20 दिन पहले 18 साल की युवती की गला घोंटकर हत्या के मामले में अब तक कुछ पता नहीं चला है। इससे पहले उतरांव में भी युवती को मारकर फेंका गया था। पुलिस को शक है कि दोनों मामले ऑनर किलिंग के हैैं। जबकि, माघ मेला में 21 जनवरी को आयोजित होने वाले विश्व हिंदू परिषद के संत सम्मेलन में पारित होने वाले प्रस्तावों को केंद्र और प्रदेश सरकार को भी भेजा जाएगा। 

जिला अदालत परिसर में दारोगा को वकीलों ने पीटा, पीडि़त का बयान दर्ज करने पहुंचे थे

सराय ममरेज थाने के दारोगा एक मुकदमे के पीड़ित का बयान दर्ज करने के लिए शुक्रवार को जिला न्यायालय आए थे। वहां एसीजेएम सात की कोर्ट में कहासुनी के बाद वकीलों ने पिटाई कर दी। सराय ममरेज थाना क्षेत्र में एक मामले में पीडि़त का बयान लेने के लिए दारोगा अजीत उपाध्याय शुक्रवार की दोपहर कचेहरी परिसर पहुंचे थे। बताते हैं कि न्‍यायालय अपर मुख्‍य न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट कक्ष संख्‍या सात के बाहर किसी बात को लेकर दारोगा का वकील से विवाद हो गया। बात बढ़ी तो अन्‍य अधिवक्‍ता भी वहां जुट गए। इसके बाद दारोगा अजीत उपाध्‍याय की पिटाई करने लगे। इस दौरान वहां अफरा-तफरी का माहौल हो गया।  उधर दारोगा की पिटाई की सूचना मिलने पर पुलिस महकमा सक्रिय हो गया। तत्‍काल मौके पर फोर्स पहुंची और वकीलों के चंगुल से दारोगा को छुड़ाया। वकीलों की पिटाई से दारोगा की आंख पर चोट लगी है। उन्‍हें इलाज के लिए बेली अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। इस बीच सूचना पाकर मौके पर सीओ और कर्नलगंज थाने की पुलिस मौजूद है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दारोगा की ओर से तहरीर मिलने पर मुकदमा लिखा जाएगा।

दारागंज व उतरांव में युवतियों के शवों की पहचान नहीं, घरवालों ने तो नहीं मार डाला

माघ मेला क्षेत्र में करीब 20 दिन पहले 18 साल की युवती की गला घोंटकर हत्या के मामले में अब तक कुछ पता नहीं चला है। इससे पहले उतरांव में भी युवती को मारकर फेंका गया था। युवतियों की पहचान के लिए घरवाले ही नहीं आए। पुलिस को शक है कि दोनों मामले ऑनर किलिंग के हैैं। संभवत: परिजनों ने ही खुद युवतियों की लोकलाज के डर से हत्या कर दी होगी। माघ मेला क्षेत्र में 28 दिसंबर की सुबह किला से करीब आधा किलोमीटर दूर हड्डी घाट पर युवती का शव यमुना के पानी में पड़ा मिला था। पोस्टमार्टम से भी साफ हो गया कि उसे गला घोंटकर मारा गया था। इससे पहले 21 अगस्त की सुबह हाईवे किनारे उतरांव क्षेत्र के समोधीपुर गांव के खेत में करीब 22 साल की युवती की हत्या के बाद लाश फेंकी गई थी। उसे भी गला घोंटकर मारा गया था।

 केंद्र को भेजे जाएंगे संत सम्मेलन में पारित प्रस्ताव 

माघ मेला में 21 जनवरी को आयोजित होने वाले विश्व हिंदू परिषद के संत सम्मेलन में पारित होने वाले प्रस्तावों को केंद्र और प्रदेश सरकार को भी भेजा जाएगा। यही नहीं, जो संत देश के बाहर हैैं और जो  सम्मेलन में हिस्सा नहीं ले सकेंगे, उन्हें भी पारित प्रस्तावों से अवगत कराया जाएगा। परिषद पहले ही एलान कर चुकी है कि सम्मेलन में राम मंदिर निर्माण की तिथि घोषित की जाएगी। साथ ही मंदिर निर्माण के लिए बनने वाले ट्रस्ट को लेकर रणनीति भी इसमें तय की जाएगी। प्रांत संगठन मंत्री मुकेश कुमार ने बताया कि सम्मेलन के पहले शुक्रवार और शनिवार को लखनऊ क्षेत्र की बैठक होगी, जिसमें परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय भी हिस्सा लेंगे। इसके बाद 20 जनवरी को केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक होगी। 21 को संत सम्मेलन दोपहर दो बजे से शुरू होगा। बताया कि संत सम्मेलन में श्रीराम जन्मभूूमि मंदिर निर्माण शुरू कराने की तिथि की घोषणा, समान नागरिक संहिता, राष्ट्रीय जनसंख्या नीति पर प्रस्ताव पारित होंगे। इसके अलावा भारतीय संस्कृति, संस्कार, जीवन मूल्य, गंगा और गाय भी विचारणीय विषय होंगे। प्रस्तावों के साथ ही विचारणीय विषयों को केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस