प्रयागराज, जेएनएन। जनपद में प्रधानों के छह पदों पर उपचुनाव शनिवार को हुआ। इसमें 64 फीसद वोटिंग हुई। दूसरी ओर पड़ोसी जनपद के कौशांबी के करारी में युवती के अपहरण मामले में व्यापारियों का रास्ताजाम किया। इसमें हिंदू संगठन के लोग भी शामिल रहे। अधिकारियों ने उन्हें समझाने का प्रयास किया। पुलिस ने लाठी पटकी तो जाम हटा। वहीं दहेज को लेकर विवाहिता की हत्या मामले में कौशांबी के अपर सत्र न्यायाधीश प्रमोद कुमार ने शनिवार को पति व ससुर को दोषी पाते हुए उन्हें उम्रकैद की सजाई। 30 हजार का अर्थदंड भी लगाया। 

प्रधानों के छह पदों पर हुई वोटिंग

जिले में शनिवार को प्रधानों के छह पदों पर उपचुनाव हुआ। इसमें 64.41 फीसद मतदान हुआ। सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ। सुबह ही बूथों पर मतदाताओं की कतार लग गई थी। दोपहर में बारिश के दौरान भी कई केंद्रों पर मतदाता जुटे रहे। पांच बजे मतदान खत्म हो गया। इसके बाद पोलिंग पार्टियां मतपेटियों को ब्लॉक मुख्यालय ले जाकर आरओ की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम में जमा कर दिया। मतपेटियां ब्लॉक मुख्यालयों पर बने स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा में रखवा दी गई हैं। मतगणना आठ जुलाई को होगी। ग्राम पंचायत सदस्य के 72 पदों में से 62 पद पर निर्विरोध निर्वाचन हो गया। दस पदों पर किसी ने उम्मीदवारी नहीं जताई। इसी तरह बीडीसी सदस्य के 10 पदों पर उप चुनाव के लिए अधिसूचना जारी की गई थी, जिसमें सभी पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो गया। 

युवती के अपहरण मामले में व्यापारियों का रास्ताजाम, पुलिस ने पटकी लाठी

पड़ोसी जनपद कौशांबी में करारी कस्बे से युवती का अपहरण 27 जून को हुआ था। केस दर्ज है लेकिन युवती को बरामद नहीं कर सकी। इसी को लेकर शनिवार को आक्रोशित व्यापारियों के साथ हिंदू संगठन के कुछ लोगों ने मुख्य चौराहे पर रास्ताजाम कर दिया। पहुंचे डीएम व एसपी ने लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह थानाध्यक्ष को हटाने और युवती को शीघ्र बरामद करने की जिद पर अड़े रहे। करीब तीन घंटे के हंगामे के बाद पुलिस को लाठियां भी पटकनी पड़ी। इससे लोगों में भगदड़ भी मच गई। हालांकि बातचीत के बाद लोग मान गए। 

दहेज हत्या में पति व ससुर को उम्रकैद

दहेज को लेकर विवाहिता की हत्या मामले में अपर सत्र न्यायाधीश प्रमोद कुमार ने शनिवार को पति व ससुर को दोषी पाते हुए उन्हें उम्रकैद की सजाई। 30 हजार का अर्थदंड भी लगाया। फतेहपुर जनपद के खखरेरू थाना क्षेत्र के भदौहा निवासी बृजलाल ने अपनी बेटी मीना की शादी सात मई 2014 को राकेश कुमार निवासी अकिलपुर ऐराना खागा में की थी। आरोप है कि ससुरालीजन दिए गए दहेज से संतुष्ट नहीं थे और अतिरिक्त दहेज के रुप में 50 हजार नकद, सोने की चेन व बाइक की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर शादी के महज चार माह बाद ही ससुरालियों ने मीना की हत्या कर शव को सैनी कोतवाली के कनवार गांव के निकट रेलवे लाइन में फेंक दिया। मीना के पिता ने उसके ससुर रामप्रसाद, पति राकेश सहित कई के खिलाफ केस दर्ज कराया था। पुलिस ने जांच के बाद आरोप पत्र न्यायालय में भेज दिया। 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप