मंडी में सब्जियों की भरमार, टमाटर का रेट पांच रुपये गिरा

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। दो दिनों की साप्ताहिक बंदी में सब्जियों की बिक्री कम होने के कारण थोक मंडी में सब्जियों का काफी स्टाक हो गया है। स्टाक को खपाने के लिए थोक व्यापारियों को सब्जियों के दाम घटाने पड़े। सोमवार को मंडी में टमाटर का दाम करीब पांच रुपये किलो गिर गया। इससे टमाटर का थोक रेट 35-40 रुपये से घटकर 30-35 रुपये किलो हो गया। इससे फुटकर रेट में भी गिरावट के आसार हैं। टमाटर का रेट गिरने से आम लोगों को राहत मिलेगी। वहीं थोक मंडी सब्जियों की आज भरमार है। फुटकर दुकानदारों की भी खरीदारी को भीड़ जुटी है।

 

सब्‍जी रखने की जगह नहीं, सस्‍ते दाम में बेचना पड़ रहा

प्रयागराज का थोक सब्‍जी बाजार मुंडेरा मंडी है। इस मंडी में आसपास के इलाकों की सब्जियों के अलावा मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र से भी बड़े पैमाने पर सब्जियां आ रही हैं। इससे सब्जियों की भरमार हो गई है। थोक व्यापारियों के पास स्टाक रखने की जगह नहीं है। इसकी वजह से उन्हें सस्ते दामों में सब्जियां बेचनी पड़ रही हैं।

सब्जियों के थोक और फुटकर रेट

अभी तक कद्दू, लौकी, तरोई, नेनुआ, भिंडी के थोक दाम आठ रुपये से लेकर 10-12 रुपये किलो, बैगन 13-14 रुपये किलो, खीरा 10-12 रुपये किलो बिक रहा था। सोमवार को इन सब्जियों के दामों में भी एक-दो रुपये किलो तक गिरावट हुई है। थोक में परवल 18-20 रुपये किलो बिका। हालांकि, फुटकर में परवल 40 रुपये किलो, कद्दू 30 रुपये किलो, प्याज 30 से 40 रुपये किलो, अरुवी 30 रुपये किलो, बैगन 40 रुपये किलो, आलू 20 रुपये किलो, नेनुआ 30 रुपये किलो, करैला 40 से 50 रुपये किलो बिक रहा है। वहीं लौकी का रेट 20 रुपये प्रति पीस है।

सब्‍जी व्‍यापारी नेता ने सब्जियों के रेट गिरने की बताई वजह

मुंडेरा सब्जी एवं फल व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतीश कुशवाहा का कहना है कि दो दिनों की साप्ताहिक बंदी के कारण माल बहुत बच गया है। इसकी वजह से सब्जियों के रेट और कम हो गया है। साप्ताहिक बंदी के समाप्त होने से सोमवार को सब्जियों की बिक्री में तेजी रही।

Edited By: Brijesh Srivastava