प्रयागराज,जेएनएन। लॉकडाउन के चलते शहर के ज्यादातर सब्जी बाजार बंद हैं। जो खुले हैं, वहां सब्जी के भाव आसमान छू रहे हैं। तीन से चार गुना ज्यादा दाम पर सब्जी बिक रही है। थोक मंडी में किसान औने पौने दाम पर सब्जी बेच रहा है जबकि वही सब्जी बाजार में कई गुना ज्यादा रेट में बिक रही है। इस पर जिला प्रशासन का कोई नियंत्रण नहीं रह गया हे। थोक मंडी में टमाटर आठ रुपये किलो है जबकि फुटकर बाजार में 30 रुपये किलो बिक रहा है। इसी तरह दस रुपये किलो वाली भिंडी फुटकर में 30 रुपये में बिक रही है।

फुटकर में तीन से चार गुना अधिक है दाम

मुंडेरा थोक सब्जी मंडी में बाहर से तो सब्जी आती ही हैं, कौशांबी और गंगापार के किसान भी सब्जी बेचने के लिए आते हैं। किसानों से दुकानदार सस्ते में सब्जी खरीदते हैं, लेकिन फुटकर में तीन-चार गुना ज्यादा रेट पर बेचते हैं। फुटकर में भी अलग-अलग क्षेत्रों में रेट अलग-अलग होता है। थोक में कद्दू एक से डेढ़, बैगन 10, मूली और पालक 10 रुपये किलो बिक रही है जबकि फुटकर में कद्दू 10 से 15, बैगन 30, मूली-पालक 20 से 25 रुपये किलो बिक रही है। सचिव मंडी परिषद रेनू वर्मा का कहना है कि मंडी परिषद सब्जी का थोक रेट नियंत्रित कर सकती है। थोक रेट तय भी कर दिए गए हैं लेकिन फुटकर रेट मंडी से दूरी, मजदूरी और भाड़े के आधार पर तय होता है। हालांकि, प्रशासन चाहे तो फुटकर तय कर सकता है।

क्या कहते हैं किसान

कौशांबी में रसूलपुर के किसान राम नरेश ने बताया कि मंडी में गाजर, हरी मिर्च पांच रुपये किलो बिक रही है। इससे मजदूरी भी नहीं निकल पा रही है। परवल भले 25-30 रुपये किलो बिक रहा है। मोहम्‍मदपुर के पुरुषोत्‍तम सिंह का कहना है कि टमाटर आठ, 10 रुपये और भिंडी 10-12 रुपये किलो बिक रही है। किसानों को सही मूल्य नहीं मिल पा रहा है। मौसम की वजह से तीन चौथाई फसल खराब हो गई। फतेहपुर घाट के किसान देवेंद्र सिंह ने बताया कि कद्दू एक-डेढ़ रुपये, भिंडी 10 से 15 रुपये, मूली 10 रुपये किलो और लौकी दो से पांच रुपये पीस बिक रही है। सारा फायदा फुटकर दुकानदार लेते हैं।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस