जागरण संवाददाता, प्रयागराज। जापान के टोक्‍यो में आयोजित ओलिंपिक में भारतीय महिला हाकी टीम की जीत पर पूरे देश में जश्‍न का माहौल है। ऐसे में प्रयागराज कैसे अछूता रह सकता है। हाकी टीम की दो खिलाड़ी उत्‍तर मध्‍य रेलवे के प्रयागराज मंडल की हैं। एनसीआर के अधिकारियों और खिलाडि़यों में इस जीत से उत्‍साह और उल्‍लास का माहौल है। उन्‍होंने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी बांटी। वहीं शहर में भी विजेता टीम को बधाई दी जा रही है। 

गुरजीत कौर व निशा एनसीआर प्रयागराज में तैनात हैं

ओलंपिक में भारतीय महिला हाकी टीम के क्वार्टर फाइनल जीतने पर संगमनगरी में जश्न का माहौल है। रेलवे के अधिकारियों और खिलाड़ियों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर आपस में खुशियां बांटीं। इस जीत के लिए भारतीय महिला हाकी टीम का हिस्सा बनीं रेलवे की खिलाड़ियों गुरजीत कौर और निशा को बधाई दी गई। सेमीफाइनल मुकाबले में भी जीत हासिल करने के लिए शुभकामनाएं भी दी गईं। 

दोनों खिलाड़ी भारतीय महिला हाकी टीम में शामिल हैं

उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल में कार्मिक शाखा में कार्यरत गुरजीत कौर और वाणिज्य शाखा में तैनात निशा भारतीय महिला हाकी टीम में शामिल हैं। दोनों महिला खिलाड़ी ओलंपिक में हिस्सा लेने के लिए गई हैं। हाकी के क्वार्टर फाइनल में भारतीय महिला टीम का मुकाबला दुनिया की जानी-मानी टीम आस्ट्रेलिया से था। गुरजीत कौर के ड्रैक मारकर एक गोल करने से भारतीय टीम ने आस्ट्रेलिया की टीम को मात देने में सफल रहीं। 

एनसीआर खिलाड़ी की कोच पुष्‍पा श्रीवास्‍तव बोलीं

गुरजीत और निशा की कोच पुष्पा श्रीवास्तव का कहना है कि जो भारतीय महिला हाकी टीम ओलंपिक में कभी क्वार्टर फाइनल तक नहीं पहुंच सकी, उसी टीम ने गुरजीत के खेल के दम पर आज क्वार्टर फाइनल जीतकर सेमीफाइनल में पहुंच गई है। पूरा भरोसा है कि टीम सेमीफाइनल और फिर फाइनल भी जीतेगी। उन्होंने बताया कि दोनों खिलाड़ी 2016 में रेलवे में ज्वाइन किया था। तभी से डिपार्टमेंट के साथ भारतीय रेलवे और भारतीय टीम से लगातार खेल रही हैं। ओलंपिक के लिए चयन हुआ तो वहां भी अपने खेल का जौहर दिखाईं। 

बोलीं कोच- गुरजीत व निशा प्रयागराज से संकल्‍प लेकर गई थीं

बैंगलुरु के स्पोर्ट्स अथारिटी आफ इंडिया में प्रेक्टिस के दौरान सात दिन के लिए कैम्प से छुट्टी मिली थी तो दोनों खिलाड़ी गुरजीत कौर और निशा प्रयागराज आई थीं। कोच पुष्पा ने बताया कि जनवरी में एक दिन के लिए दोनों आई थीं। दोनों ही सरल स्वभाव की हैं। किसी भी मुकाबले को छोटा या बड़ा नहीं समझतीं, बल्कि इंडिया के लिए खेलने का जज्बा हमेशा झलकता था। सभी से मिलने के बाद जूनियर खिलाड़ियों को भी उन्‍होंने टिप्स दिया था। यहां से यह संकल्प लेकर गई थीं कि देश का नाम रोशन करेंगे।

इन अधिकारियों व खिलाडि़यों में है उत्‍साह का माहौल

जीत का जश्न मनाने और शुभकामनाएं देने वालों में वरिष्ठ कार्मिक अधिकारी राजेश शर्मा, सीनियर डीसीएम अंशु पांडेय, मंडल क्रीड़ाधिकारी रवि पटेल, सीनियर खिलाड़ी जसप्रीत कौर, अन्नू बाला सरोज, नीलांजलि राय, बी सविता आदि शामिल रहीं।

Edited By: Brijesh Srivastava