प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जिले के रानीगंज तहसील क्षेत्र के एक गांव के सगे भाई एवं इसी गांव का एक युवक लखनऊ एयरपोर्ट पर प्राइवेट टैक्सी चलाते थे, इनमें से एक ने कोरोना वायरस से पाजिटिव यात्री को अपनी टैक्सी में बैठाया था। इसकी जानकारी मिलते ही डीएम, एसपी और सीडीओ दोपहर डेढ़ बजे गांव पहुंच गए। तीनों को जांच के लिए भेजा। इसके साथ ही गांव के हर घर के सदस्यों को आइसोलेट किया गया। इसके साथ ही पूरे गांव को सेनेटाइज किया जा रहा है। गांव के लोगों को बताया गया कि वह शारीरिक दूरी बना कर रखें और सुरक्षा के सभी जरूरी उपायों का पालन करें।

केरल में फंसे लोगों का ख्याल रख रही है सरकार

लॉकडाउन में केरल में फंसे पडोसी जनपद प्रतापगढ के लोगों का ख्याल प्रदेश सरकार रख रही है। इसके लिए महानिरीक्षक निबंधन मिनिस्टी एस को प्रभारी बनाया गया है। उनके साथ यहां के एआइजी स्टांप अविनाश पांडेय को लगाया गया है। एआइजी ने बताया कि अब तक केरल में रह रहे सूबे के करीब ढाई हजार लोगों से संपर्क हुआ है। उन्हें वहां कोई असुविधा नहीं हो रही है। इस जिले के पारा हमीदपुर गांव के निवासी संजय कुमार केरल में डीआइजी और जालौन के रहने वाले बलराम उपाध्याय डीजीपी हैं। दोनों अफसर सूबे के लोगों पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। इसके अलावा केरल के जो भी लोग यूपी में हैं, उनकी पूरी व्यवस्था प्रदेश सरकार कर रही है।  

विदेश से आए पांच सौ लोगों पर पैनी नजर

जिले मेें 12 मार्च के बाद विदेश से आने वाले लोगों पर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की पैनी नजर है। अब तक विदेश से आने वाले लगभग पांच सौ लोगों की सूची प्रशासन ने तैयार कर ली है। सभी को होम क्वारंटाइन किया गया है। इसी तरह देश के संक्रमित शहरों से आए लगभग 14 हजार लोगों में पांच हजार को होम क्वारंटाइन तथा अन्य नौ हजार लोगों को सेल्फ आइसोलेट के लिए कहा गया है। इसके उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

विदेश से आने वालों में ग्रामीण क्षेत्र लोग अधिक

विदेश से आने वालों में सबसे ज्यादा ग्रामीण क्षेत्र लोग हैैं। इसमें भारतगंज, मेजा, फूलपुर, सोरांव, मऊआइमा, लालगोपालगंज के लगभग तीन सौ लोग हैैं। शहर में राजापुर, करेली, खुल्दाबाद, धूमनगंज के लोग ज्यादा हैैं। इन सभी को होम क्वारंटाइन में रखा गया है। इनकी मॉनीटङ्क्षरग के लिए विशेष टीमें लगाई गई हैैं। डीएम भानुचंद्र गोस्वामी ने कहा है कि किसी भी दशा में होम क्वारंटाइन में रखे गए लोग इसका उल्लंघन नहीं करेंगे। जब स्वास्थ्य विभाग की टीम मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में स्वीकृति देगी तभी वे बाहर निकलेंगे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस