प्रयागराज, जेएनएन। भरी कचहरी के बाहर ऐसा केस आया कि सुनने वाले भी दंग रह गए। हुआ यूं कि मुकदमा वापस नहीं लेने पर एक शख्स ने कचहरी में अपनी बीवी को तीन बार तलाक...तलाक...तलाक कह दिया। तीन तलाक देने से परेशान पीडि़ता शबा बानो फरियाद लेकर पुलिस के पास पहुंची। इसके बाद उसने अपने शौहर मुस्तकीम के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

महिला ने कोर्ट में घरेलू हिंसा का मुकदमा दायर किया था

जनपद प्रयागराज में उतरांव थाना क्षेत्र के दरियापट्टी गांव निवासी शबा बानो का निकाह आठ साल पहले मुस्तकीम से हुआ था। आरोप है कि कुछ दिन बाद से ही ससुराल वाले दहेज की खातिर उसे प्रताडि़त करने लगे। चार साल पहले पिटाई कर घर से निकाल दिया। उसने कोर्ट में घरेलू हिंसा का मुकदमा दायर किया था। यह भी आरोप है कि 28 अगस्त 2019 को मुकदमे की सुनवाई के दौरान वह कचहरी आई थी। कोर्ट से बाहर निकलने पर मुस्तकीम ने गाली गलौज करते हुए मुकदमा वापस लेने को कहा। साथ ही जान से मारने की धमकी भी दी। विरोध पर उसने तलाक.. तलाक.. तलाक बोलते हुए तलाक दे दिया। इसके बाद उसने एफआइआर कराने पर भी हत्या करवाने की धमकी दी। इस संबंध में इंस्पेक्टर कर्नलगंज अरुण त्यागी का कहना है कि महिला ने तहरीर दी है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

मऊआइमा थाने में भी आया था मामला

मऊआइमा थाने में भी पिछले दिनों तीन तलाक का केस दर्ज हुआ था। सिसई सिपाह गांव निवासी मोहम्मद फारूक ने अपनी बेटी रेशमा खान की शादी वर्ष 2011 में  मऊआइमा थाना क्षेत्र के ग्राम सराय सुलतान उर्फ पूरे मखदूम किरांव निवासी करमशेर खान के साथ की थी। करमशेर सिपाही है तथा वर्तमान में फतेहपुर जिले में तैनात है। शादी के बाद दहेज में पांच लाख रुपये की मांग न पूरी होने पर करमशेर ने पत्नी को लगातार प्रताडि़त करने के बाद मारपीट कर तलाक दे दिया। पीडि़ता ने एसएसपी से शिकायत की। मऊआइमा पुलिस ने एसएसपी के आदेश पर सिपाही पति सहित चार के खिलाफ दहेज उत्पीडऩ और तीन तलाक का मुकदमा दर्ज कर लिया।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस