प्रयागराज,जेएनएन। प्रयागराज  जनपद के कोरांव इलाके के निश्चिंतपुर गांव में बुधवार को जमीन की बरसों पुरानी खूनी रंजिश में दो पक्षों के बीच टकराव हो गया। झगड़े के दौरान तीन सगे भाइयों की लाठी और बंदूक के बट से पीटकर हत्या कर दी गई। महिला समेत तीन लोग घायल हैं। तिहरे हत्याकांड की खबर पाकर मौके पर जुटी पुलिस फोर्स ने चार महिलाओं सहित 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पीड़ति परिवार के पांच लोग हत्या के एक मुकदमे में जेल में बंद हैं। घटना में 12 लोगों के खिलाफ एफआइआर लिखी गई है।

छह साल पहले आरोपितों के परिवार के एक युवक की हुई थी

निश्चिंतपुर गांव में रहने वाले ब्रहमदीन सिंह यादव का अपने पड़ोसी शिवनारायण सिंह यादव से करीब 40 साल से जमीन का विवाद बना है। छह साल पहले शिवनारायण के परिवार के मुलायम सिंह यादव की हत्या कर दी गई थी। उस घटना में ब्रहमदीन और उनके तीन पुत्र व दामाद जेल में हैं। ब्रहमदीन के चार पुत्र मुंबई में ऑटो चलाते थे। कोरोना संकट की वजह से वे चारों  ऑटो रिक्शा के जरिए आठ दिन पहले गांव आ गए थे।

खेत की जोताई करने गए थे, तभी विपक्षियाें ने किया हमला

भाइयों में बड़े विंध्यवासिनी के मुताबिक, दिन में करीब 12 बजे वह तीनों भाइयों के साथ धान की बेहन डालने के लिए ट्रैक्टर सेे खेत की जोताई करने गया तभी विरोधी परिवार के लोग टूट पड़े। खेतों पर अपना हक जताते हुए उन लोगों ने लाठी-डंडे और लाइसेंसी बंदूक की बट से हमला कर दिया। विंध्यवासिनी ने भागकर जान बचाई मगर तीन भाइयों को बुरी तरह पीट दिया गया। घर जाकर भी हमला किया। खबर पाकर पुलिस पहुंची तो पता चला कि 48 वर्षीय इंद्रबहादुर की मौत हो चुकी है। बाकी दो भाइयों 48 वर्षीय रवींद्र बहादुर और 35 वर्षीय रामजी को एंबुलेंस में अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें भी मृत बता दिया। सुनीता, उसकी बेटी रागिनी और मारे गए रामजी के पुत्र जय सिंह को अस्पताल में भर्ती किया गया है। आइजी रेंज केपी सिंह ने बताया कि चार महिलाओं समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मौके पर पुलिस बल तैनात है।