प्रयागराज, जेएनएन : सूरज की तपिश और उमस से बेहाल लोगों को इस परेशानी से निजात मिलने के आसार अभी कम हैं। सप्ताह की शुरुआत से शनिवार तक गर्मी के हालात में कोई तब्दीली नहीं हुई। अधिकतम तापमान शुक्रवार के जैसा ही 44 डिग्री सेल्सियस रहा। न्यूनतम 31.2 डिग्री रहा। विशेषज्ञों के अनुमान के अनुसार बरसात का सुख अब जुलाई की शुरुआत में ही मिल सकता है, क्योंकि पूर्वी हवा की रफ्तार धीमी पडऩे से मानसून पिछड़ गया है। प्रयागराज ही नहीं बल्कि इसके आसपास के जिले भी भयंकर तप रहे हैं।

जून महीने के मध्य से जहां लोग मानसून की उम्मीद करने लगते हैं और माह अंत तक अमूमन एक से दो बार झमाझम बारिश हो जाती है वहीं इस बार सूखे की नौबत है। गर्मी का अधिकतम पारा भी घटने की बजाय सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस ऊपर टिका हुआ है। सप्ताह भर से ऐसे ही हालात रहने से जन मानस में त्राहि-त्राहि होने लगी है तो मौसम के जानकार कह रहे हैं कि मानसून पिछड़ गया है। केंद्रीय मौसम विभाग का भी पूर्वानुमान है कि जून माह के अंतिम दिन तक आसमान साफ रहेगा। यानी बारिश के आसार अभी कम ही हैं। गर्मी से प्रयागराज के लोग ही नहीं बल्कि यूपी के अधिकांश  जिले तप रहे हैं। पूर्वांचल में शनिवार को मामूली राहत रही।

शनिवार को बेतहाशा गर्मी के चलते सड़क पर राहगीर भी पेड़ की छांव तलाशते दिखे। दोपहर के समय पार्कों में लोग घने पेड़ की छाया में बैठे रहे। सड़क पर सन्नाटा पसरा रहा। घनी बस्तियों में जहां भीड़भाड़ के चलते यातायात जाम की समस्या रही वहां रेंगती हुई गाडिय़ों पर लोग पसीने-पसीने होते रहे। 

पांच दिन का अधिकतम तापमान :

शुक्रवार 44.1

गुरुवार 42.8

बुधवार 42.3

मंगलवार 42.5

सोमवार 39.8

(तापमान डिग्री सेल्सियस में)

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप