प्रयागराज, जागरण संवाददाता। संगमनगरी में इस वित्तीय वर्ष में 200 कुटीर उद्योगों (इकाइयों) को स्थापित करने का लक्ष्य है। इसके लिए जिला उद्योग केंद्र की ओर से ऋण मुहैया कराया जा रहा है। अब तक 60 लोगों को करीब 8.5 करोड़ रुपये का लोन उपलब्ध कराया जा चुका है। हालांकि, कुल आवेदन 150 आए हैं। बाकी 90 आवेदनों की जांच कर कर्ज दिलाने की कार्रवाई जारी है। लोग भी इस योजना पर उत्साह दिखा रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग इस योजना के तहत लोन लेकर अपना कारोबार स्थापित करने के लिए जानकारी जुटा रहे हैं।

ऋण उपलब्ध कराने को आनलाइन आवेदन स्वीकार किए जा रहे

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत दो तरह की इकाइयां लगाने के लिए ऋण की व्यवस्था है। निर्माण क्षेत्र की इकाइयां स्थापित करने के लिए 25 लाख और सेवा क्षेत्र की इकाइयां लगाने के लिए 10 लाख रुपये कर्ज देने का प्रविधान है। ग्रामीण क्षेत्र में आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को 35 फीसद और शहरी क्षेत्र के लाभार्थियों को 25 फीसद सब्सिडी मिलेगी। इकाइयां स्थापित करने के लिए जिला उद्योग केंद्र द्वारा ऋण उपलब्ध कराने को आनलाइन आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं। इच्छुक  लोग इस प्रक्रिया के बारे में जरूर ध्यान रखें।

रोजगार स्थापित करने के लिए यह अहम योजना

उपायुक्त उद्योग अजय कुमार चौरसिया का कहना है कि रोजगार स्थापित करने के लिए यह अहम योजना है। शासन ने पहले 100 इकाइयां स्थापित कराने का लक्ष्य तय किया था। लेकिन, अब करीब 200 इकाइयां स्थापित करने के लिए भी लाभार्थियों को सब्सिडी देने में कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने बताया कि दुग्ध उत्पाद, राइस और फ्लोर मिल, इंटरलाकिंग ब्रिक्स (ईटें), इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रानिक्स रिपेयरिंग, गारमेंट्स संबंधी उद्यम स्थापित करने को लोग कर्ज ले रहे हैं। योजना संबंधी अधिक जानकारी के लिए विभाग में भी संपर्क किया जा सकता है। विभा मेिं आने पर लोगों को योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

Edited By: Ankur Tripathi