प्रयागराज, जेएनएन।  कोरोना संक्रमण की रफ्तार में काफी कमी आई है तो कोविड अस्पतालों में संक्रमितों के मौत के आंकड़े फिर बढऩे लगे हैं। शनिवार को कोरोना से संघर्ष करते हुए नौ संक्रमितों की जान चली गई। लोगों के फेफड़े पर कोरोना ऐसा अटैक कर रहा है कि वेंटिलेटर भी किसी के जीवन की रक्षा नहीं कर पा रहे हैं। कोरोना से स्वस्थ होने पर 1483 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया और 10222 की कोविड जांच के लिए सैंपल लिए गए।

केस तो घट रहे लेकिन अकाल मौतों में नहीं कमी

कोरोना के रोज मिलने वाले नए संक्रमितों की संख्या में लगातार गिरावट हो रही है। शनिवार को 421 नए संक्रमित मिले। इनमें सीडीए पेंशन में स्टेनोग्राफर, शिक्षक, पुलिस कर्मी, स्वास्थ्य कर्मी, हाईकोर्ट के आरओ, एआरओ आदि शामिल हैं। जिन 1483 लोगों को डिस्चार्ज किया गया उनमें 65 को कोविड अस्पतालों से और 1418 को होम आइसोलेशन से छुट्टी दी गई। 

घर में भी हो प्रोटोकाल का पालन

कोविड-19 के नोडल डा. ऋषि सहाय ने कहा कि कोरोना के नए संक्रमित पिछले माह की अपेक्षा काफी कम हुए हैं। लोग मास्क लगाएं। प्रोटोकाल का घर से बाहर निकलने में ही नहीं बल्कि घरों में रहते भी पालन करें। कहा कि लोग टीके जरूर लगाएं ताकि कोरोना संक्रमण की गंभीरता से बचाव हो सके।