प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रतापगढ़ कोतवाली पट्टी क्षेत्र के बरहूपुर गांव की एक महिला की मुंबई में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसके परिवार के लोग शव को ताबूत में रखकर ट्रेन में घर आ रहे थे। रास्ते में शव सहित ताबूत गायब हो गया। सोमवार देर रात स्पेशल ट्रेन जब प्रयागराज छिवकी स्टेशन पर पहुंची तो पार्सल यान में ताबूत नहीं मिला। गुस्साए स्वजनों ने स्टेशन पर हंगामा किया। उनकी शिकायत के बाद ताबूत की तलाश शुरू की गई। मंगलवार को मैहर स्टेशन के पास ताबूत मिला। मंगलवार शाम यह ताबूत परिवार के लोगों को ताबूत सौंप दिया गया। वह उसे लेकर घर चले गए।

मुंबई से भेजा गया था ताबूत में शव

प्रतापगढ़ पट्टी तहसील क्षेत्र के बरहूपुर निवासी वहाब शेख की 50 वर्षीय पत्नी सरवरी बेगम गंभीर बीमारी से पीडि़त थीं। उनका इलाज परिवार के लोग मुंबई स्थित टाटा अस्पताल में करा रहे थे। इलाज के दौरान शनिवार को उनकी मौत हो गई। सरवरी की अंतिम इच्छा थी कि उन्हें अपने गांव के पास ही दफनाया जाए। सरफराज, गुफरान, गुलफाम व फरीन ने कुर्ला-वाराणसी त्योहार स्पेशल ट्रेन से अपने मां के शव की बुकिंग कराई। शव को ताबूत में रखकर पार्सल यान में रखा गया। वह ट्रेन के साथ दूसरे कोच में आ रहे थे। सोमवार रात 11 बजे जब ट्रेन प्रयागराज छिवकी स्टेशन पर पहुंची तो वे लोग शव को उतारने के लिए पार्सल यान के पास गए। काफी खोजबीन के बाद भी ताबूत नहीं दिखाई दिया।

रेलवे ट्रैक किनारे मिला ताबूत

ताबूत गायब होने से नाराज परिवार के लोग स्टेशन पर आक्रोश जताते हुए चीखने लगे। जानकारी होने पर रेलवे कर्मचारी भी वहां पहुंचे। उन्होंने पूरे मामले की जानकारी ली। छिवकी स्टेशन मास्टर ने इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। ताबूत कैसे गायब हो गया, इसकी जांच शुरू की गई। रेल प्रशासन ने सीसीटीवी की मदद से काफी खोजबीन की। मंगलवार भोर में करीब चार बजे सरवरी बेगम के परिवार के लोगों को बताया गया कि मैहर के समीप ट्रेन की पटरी के किनारे ताबूत बरामद हो गया है। उसके बाद उसे प्रयागराज आने वाली दूसरी ट्रेन से पार्सल यान में भेजा गया। शाम को लगभग चार बजे ट्रेन स्टेशन पर पहुंची। स्टेशन पर आए परिवार के लोगों को ताबूत सौंप दिया गया। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि शायद किसी मंद बुद्धि व्यक्ति ने पार्सल यान से ताबूत को गिरा दिया था। मामले की जानकारी होने पर तत्काल इसकी तलाश की गई। दूसरी गाड़ी से ताबूत मंगवाकर स्वजनों को सौंप दिया गया। भविष्य में ऐसी कोई घटना न हो, पार्सल यान से कोई सामान गायब न होने पाए, इसके लिए रेलकर्मियों को सख्त हिदायत दी है।

Edited By: Ankur Tripathi