प्रयागराज, जागरण संवाददाता। फाफामऊ क्षेत्र में चार लोगों की हत्या के मामले में आरोपित पवन कुमार सरोज को बुधवार सुबह पुलिस ने कस्टडी रिमांड पर लिया। उसे न तो फाफामऊ थाने लाया गया और न ही घटनास्थल पर पुलिस उसे लेकर गई। उसे गंगापार में ही गोपनीय स्थान में रखा गया। वहां कई चक्र में उससे पूछताछ की गई। सिर्फ मैसेज भेजने की बात उसने स्वीकारी, बाकी सवालाें से वह इन्कार करता रहा।

गोपनीय स्थान पर रखकर की जा रही है पूछताछ

पवन को बुधवार सुबह नैनी जेल जाकर एक दारोगा ने 24 घंटे की कस्टडी रिमांड पर लिया। सुरक्षा व्यवस्था के बीच उसे गोपनीय तरीके से फाफामऊ थाने लाया गया। कुछ देर बाद उसे मामले की विवेचना कर रहे सीओ सोरांव सुधीर कुमार को सौंप दिया गया। उसे गोपनीय स्थान पर ले जाकर रखा गया। उससे यहां उससे पूछताछ की गई। सूत्रों के मुताबिक उससे पूछा गया कि वह कब से मृतक अधेड़ की पुत्री को मैसेज कर रखा था, जिसका जवाब उसने दिया कि करीब एक माह से। फोन पर बातचीत हुई थी? कितने बजे और किन-किन साथियों के साथ घटना की थी? कुल्हाड़ी के अलावा और किस धारदार हथियार से मारा गया था? घर में कैसे दाखिल हुए थे? किस वाहन में सवार होकर वहां पहुंचे थे? वहां से निकलने के बाद कहां गए? अधेड़ की पुत्री से किसने दुष्कर्म किया था?। ऐसे ही तमाम सवाल उससे पूछे गए, जिसका जवाब उसने न में दिया। वह यही कहता रहा कि मैसेज के अलावा उसने कुछ भी नहीं किया है। हालांकि, गुरुवार सुबह उसकी कस्टडी रिमांड समाप्त होगी और देर रात तक पुलिस उससे पूछताछ करेगी। संभव है कि इसमें पुलिस को कुछ सफलता मिल जाए।

रायबरेली से घुमंतुओं समेत दर्जन भर से अधिक को उठाया

चार हत्या के मामले में पुलिस ने रायबरेली जनपद से घुमंतुओं समेत दर्जनभर को पूछताछ के लिए उठाया है। जिन घुमंतुओं को पकड़ा गया है, वह कुछ समय पहले फाफामऊ में डेरा डाले हुए थे। वारदात के कुछ दिन पहले ही वे यहां से गए थे। पुलिस ने इनके बारे में जानकारी ली और फिर रायबरेली जनपद से इनको उठा लिया। वहीं थरवई, फाफामऊ और सोरांव थाना क्षेत्र के अलग-अलग गांवों से भी छह लोगों को पूछताछ के लिए थाने लाया गया है। इन सभी की बात आरोपित पवन से मोबाइल पर हुई थी। इनके बीच क्या बातचीत हुई थी, पुलिस इसकी जानकारी ले रही है।

Edited By: Ankur Tripathi