प्रयागराज, जेएनएन। दुष्कर्म व सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पूर्वमंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति समेत अन्य लोगों के खिलाफ एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट में शनिवार को गवाही हुई। विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी के समक्ष अभियोजन की तरफ से तीसरी गवाह अनन्या पाठक ने गवाही दी। इस मामले में कोर्ट ने अब एक अगस्त को अभियोजन की चौथी गवाह तन्या पाठक को तलब किया है।

बीमारी के कारण पूर्व मंत्री नहीं हुए पेश

पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति बीमारी की वजह से पेश नहीं हुए। उनकी तरफ से इस आशय की अर्जी दी गई थी। अन्य अभियुक्तों में अशोक तिवारी, विकास वर्मा, आशीष शुक्ला, अमरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू, चंद्रपाल, रुपेश्वर को लखनऊ जेल से अदालत लाया गया था। यह मामला लखनऊ के गौतमपल्ली थाने का है। आरोपित है कि मंत्री व उनके सहयोगियों ने दुष्कर्म किया है।

नसीमुद्दीन की गिरफ्तारी व कुर्की का आदेश

एमपीएमएलए स्पेशल कोर्ट में चल रहे दो मुकदमों में सुनवाई के दौरान गैर हाजिर रहने पर पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी व अन्य के खिलाफ गिरफ्तारी तथा कुर्की का आदेश दिया गया है। विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी ने यह आदेश देते हुए सुनवाई की अगली तारीख पांच सितंबर मुकर्रर की है। पहला मामला लखनऊ के थाना हजरतगंज का है। यहां 21 जुलाई 2016 को दर्ज कराई गई रिपोर्ट में आरोप है कि भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह के बयान के विरोध में बसपा के 4-5 हजार कार्यकर्ताओं ने सभा की और विधानसभा घेरने के लिए गए। इससे यातायात बाधित हुआ। दूसरा मुकदमा भी हजरतगंज थाने का ही है। इसे तेतरा देवी ने 20 जुलाई 2016 को दर्ज कराया था। इसमें आरोप है कि बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी के नेतृत्व में आंबेडकर प्रतिमा के समीप की गई सभा में अभद्र टिप्पणी की गई।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस