प्रयागराज, जागरण संवाददाता। आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) की टीम पोल्ट्री फार्म के संचालक और उसी मोहल्ले में रहने वाले नरेशा भारतीया का कनेक्शन भी खंगाल रही है। इसके साथ ही बुधवार को खुफिया एजेंसी से जुड़े लोग पोल्ट्री फार्म पहुंकर अपने स्तर पर जानकारी जुटाई। इसके बाद आसपास रहने वाले लोगों से पूछताछ की। आतंकी की गिरफ्तारी और उसकी गतिविधियों की जानकारी सामने आने के बाद से इस स्थान पर रहने वाले लोग हक्का-बक्का हैं।

अंतरजातीय विवाह किया था नरेश ने

इस बीच पुलिस को पूछताछ में पता चला है कि महेवा गांव निवासी नरेश भारतीय ने 35 साल पहले दूसरे समुदाय की एक लड़की के साथ प्रेम विवाह कर लिया था। निकाह करने के बाद से वह अपने घरवालों से दूर डांडी के मकशूदाबाद मोहल्ले में मकान बनवा कर अपनी बीबी के साथ रहने लगा था। नरेश के बच्चे इस्लाम धर्म को मानते हैं। उसका बड़ा बेटा डा. अजीम है, जिसके साढ़ू का लड़का मोहम्मद शाहरुख बताया जाता है। दोनों आपस में रिश्तेदार भी हैं। सूत्रों का यह भी कहना है कि शाहरुख अपने पोल्ट्री फार्म की चाबी डा. अजीम को ही देकर जाता था और उसके यहां रुकता व खाता-पीता था। अजीम के घर मोहम्मद जीशान के भी आने की बात सामने आ रही है, लेकिन यह पूरी तरह से साफ नहीं है। मगर खुफिया एजेंसी को इतना जरूर पता चला है कि सोमवार रात शाहरुख के साथ जीशान भी पोल्ट्री फार्म तक कार से गया था। उसके पास कुछ सामान भी था। वापस जाते वक्त दोनों कुछ देर के लिए अजीम के घर रुके थे। मुॢर्गियों को दाना भी अजीम दिया करता था।

छापेमारी के बाद से फरार है शाहरूख

बुधवार को खुफिया एजेंसी के अधिकारी जब नरेश भारतीया के घर पहुंचे तो नरेश दरवाजा खोलकर बाहर निकला। बताया कि शाहरुख उनके बेटे के साढ़ू का लड़का है, जो पोल्ट्री फार्म की चाबी देने आया करता था। इस आधार पर उनसे जुड़े अन्य लोगों के बारे में छानबीन चल रही है। फिलहाल शाहरुख अभी फरार बताया जा रहा है।

Edited By: Ankur Tripathi