इलाहाबाद(जेएनएन)। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी (आरओ/एआरओ) परीक्षा में प्रतियोगियों के अनुमान के अनुरूप ही सर्जिकल स्ट्राइक और काला धन पर आधारित सवाल पूछे गए। 21 जिलों में यह परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। 53 फीसद अभ्यर्थियों ने इसमें भाग लिया। परीक्षा के लिए 827 केंद्र बनाए गए थे।

यूपी में नोटबंदी से उपजे नकदी संकट समाधान की इंतिहा हो गई

दो पालियों में हुई इस परीक्षा में सामान्य अध्ययन की परीक्षा पहली पाली में थी और इसमें सर्जिकल स्ट्राइक और कालाधन से जुड़े सवाल आए। अभ्यर्थियों का कहना था कि उन्होंने इसके लिए पूरी तैयारी की थी। दूरदराज केंद्र होने की वजह से अभ्यर्थियों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा। अभ्यर्थियों के अनुसार सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र में कुल 140 प्रश्न पूछे गए थे। दूसरी पाली में सामान्य हिन्दी के 60 प्रश्न पूछे गए। सामान्य हिन्दी का प्रश्नपत्र पिछले वर्ष की तुलना में थोड़ा कठिन रहा। आयोग की इस महत्वपूर्ण परीक्षा के लिए 3,85,191 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया था। इसमें पहली पाली में 2,04907 यानी 53.20 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। दूसरी पाली में 2,03261 यानी 52.20 फीसद ने परीक्षा दी। परीक्षा नियंत्रक प्रभुनाथ ने बताया कि किसी भी केन्द्र से गड़बड़ी की कोई सूचना नहीं मिली है।

कैराना में फोरचुनर गाडी के साथ पकड़ा गया आतंकी पम्मा

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस