प्रतापगढ़, जेएनएन। नई दिल्ली विधानसभा चुनाव में दिग्गज नेता अरविंद केजरीवाल को भाजपा उम्मीदवार के रूप में टक्कर देने वाले प्रतापगढ़ के सुनील यादव मंगलवार को राष्ट्रीय फलक पर छाए रहे। उनके पैतृक गांव चांदपुर में हार के बावजूद जश्न रहा। लोग टेलीविजन स्क्रीन से चिपके रहे। परिवार और गांव के लोगों को सुनील पर फर्क है।

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी प्रत्‍याशी रहे सुनील

नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र से इस बार सुनील यादव दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी प्रत्याशी अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भाजपा उम्मीदवार थे। वह वर्तमान में दिल्ली राज्य भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष हैं। प्रतापगढ़ जिले में रानीगंज विधानसभा क्षेत्र के हिस्से चांदपुर गांव के मूल निवासी सुनील दिल्ली में पत्नी अंजली व दो बच्चों के साथ रहते हैं। दो भाई हैं । छोटा भाई अनिल भी दिल्ली में रहता है और जिम संचालित करता है। सुनील के माता-पिता व्यवसाय के चलते गुजरात में रहते थे। सुनील बचपन में ही नई दिल्ली चले गए थे और अपने नाना के यहां रह कर पढ़ाई की। प्राइमरी से लेकर एलएलबी तक की पढ़ाई दिल्ली में ही की। इससे पहले पार्षद का चुनाव लड़ चुके हैं।

परिवार के लोगों को हैं भराेसा, एक दिन जरूर चमकेगा सियासी सितारा

दैनिक जागरण से बातचीत में सुनील के चाचा राम शिरोमणि यादव ने कहा कि हार-जीत तो भाग्य की बात है, उन्हें हार पर भी फख्र है।  सुनील की चाची राजकुमारी, सीता देवी व जानकी देवी ने बताया कि जब भी कोई मौका पड़ता है बेटा (सुनील) अपने परिवार के साथ गांव जरूर आता है। चचेरे भाई धीरेंद्र और जितेंद्र यादव को भरोसा है कि एक दिन सुनील का सियासी सितारा जरूर चमकेगा।

बाबू लाल गौर बने थे मप्र के मुख्यमंत्री

प्रतापगढ़ जिले के तमाम लोग समय समय पर अन्य राज्यों में राष्ट्रीय सियासी फलक पर छाए हैैं।  जिले में लालगंज तहसील क्षेत्र के नौगीर गांव निवासी बाबू लाल गौर तो वर्ष 23 अगस्त 2004 से 29 नवंबर 2005 तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री तक रहे थे। राजनीतिक व्यस्तता के बीच उनका प्रतापगढ़ आना-जाना होता था। पैतृक गांव में फिलहाल परिवार के लोग रहते हैं। बाबूलाल गौर 21 अगस्त 2019 को दिवंगत हुए थे। उनकी बहू कृष्णा गौर भोपाल के गोविंदपुरा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की विधायक हैं। इसी विस क्षेत्र से बाबूलाल गौर 10 बार विधायक चुने गए थे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस