प्रयागराज, जेएनएन। शहर के रोशन बाग स्थित मंसूर अली पार्क में पिछले कई दिनों से सीएए के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया जा रहा है। इस आंदोलन में महिलाओं की भी काफी भागीदारी है। इसी क्रम में सीएए विरोधी धरना-प्रदर्शन को समर्थन देने के लिए मशहूर शायर मुनव्वर राणा की बेटी सुमैया राणा भी पहुंचीं। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून-सीएए को दमनकारी बताया। उन्होंने कहा कि  सरकार इस कानून को जबरन थोप रही है। इसे कत्तई स्वीकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि दलित, आदिवासी, खानाबदोश, झुग्गीवासी समेत सभी ऐसे लोग इस कानून की जद में आएंगे जिनके पास अपनी नागरिकता को प्रमाणित करने के कागजात नहीं हैैं।

जहाज रूपी देश को कुछ लोग डुबा रहे हैं : मौलाना फलाही

जमाअत-ए-इस्लामी ङ्क्षहद उत्तर प्रदेश (पूर्वी जोन) के सचिव मौलाना मो. जहीर आलम फलाही ने धरने पर बैठी महिलाओं को अपना पूरा समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जहाज रूपी इस देश को डुबोने के लिए सुराख किए जा रहे हैैं।

सरकारी दमन की इंतेहा हो गई है: सुभाष गताडे

इसी क्रम में सामाजिक कार्यकर्ता सुभाष गताडे ने कहा कि सरकारी दमन की इंतेहा हो गई है। इसलिए देश में कई जगह धरना और प्रदर्शन किया जा रहा है। संस्कृति कर्मी महेंद्र, कानपुर से प्रयागराज के रोशन बाग स्थित मंसूर अली पार्क में पहुंचीं सहीफा खान, जैनबुल गजाली, बहुजन क्रांति मोर्चा ने सीएए को सभी धर्म और समुदाय के लोगों के खिलाफ बताया। सपा और कांग्रेस के स्थानीय पदाधिकारियों ने भी विचार रखे।

जुलूस निकल रहे, लोग विरोध कर रहे

सीएए के विरोध में शहर में जुलूस भी निकाले जा रहे हैं। इसमें महिलाओं की भी काफी उपस्थिति रहती है। इसी क्रम में कई मोहल्लों से निकले जुलूस में सैकड़ों महिलाएं नारे लगाते मंसूर अली पार्क में धरना देने पहुंचीं।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।