प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली की मांग पर निवर्तमान पदाधिकारियों के साथ छात्र अड़े हैं। गुरुवार देर रात उन्हें पुलिस उठाने पहुंच गई। इस दौरान छात्रों की पुलिस से झड़प भी हुई। इसके अलावा छात्रों ने कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू को पत्र लिखा। कुलपति को भेजे गए पत्र में संयुक्त संघर्ष समिति के मुख्य संयोजक अतेंद्र सिंह ने मांग की है कि पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल समस्याओं के समाधान के लिए उनसे मुलाकात करना चाहता है।

बारिश में भी डटे रहे छात्र

आमरण अनशन के पांचवें दिन बारिश में भी छात्रों के कदम पीछे नहीं हटे। संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से इविवि के चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर राम सेवक दुबे को भी पत्र लिखा गया। यह पत्र समिति ने चीफ प्रॉक्टर की ओर से निवर्तमान छात्रसंघ अध्यक्ष उदय प्रकाश यादव को अनशन खत्म करने के लिए भेजे गए पत्र के जवाब में भेजा है। पत्र में समिति ने सात सवालों का जवाब मांगा है।

छात्रों ने कहा, हिंसा का रास्ता नहीं बल्कि शांति से कर रहे प्रदर्शन

छात्रों का कहना है कि यदि छात्रसंघ का हिंसा से संबंध होता तो वह 48 दिनों का शांतिपूर्ण धरना और अनशन पर न रहता। क्या इविवि के कुलपति या आपका स्वयं का बच्चा पांच दिन से अन्न त्यागकर आमरण अनशन पर होता तो क्या दूत भेजकर अपील करते या स्वयं आते। आपको छात्रसंघ से इतना परहेज और छात्र परिषद से इतना प्रेम क्यों है। इस तरह के तमाम सवाल छात्रों ने पूछे हैं।

सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने अनशन का किया समर्थन

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज सिंह ने अनशन का समर्थन किया। इस दौरान पूर्व महामंत्री सुरेश यादव, अखिलेश गुप्ता, जिया रिजवी, विवेकानंद पाठक, विकास तिवारी, प्रशांत समाजसेवी, अरविंद सरोज, अदनान जितेंद्र, धनराज, अंकित द्विवेदी, राहुल, अभिनव द्विवेदी, विकास बागी, सत्यम कुशवाहा आदि मौजूद रहे।

कुलपति प्रो. हांगलू से मिलने को मांगा वक्त

इलाहाबाद विश्वविद्यालय संयुक्त संघर्ष समिति की बैठक अधिवक्ता टीपी सिंह के आवास पर हुई। इसमें सर्वसम्मति से आंदोलन की रूपरेखा तैयार की गई। तय किया गया कि पूर्व छात्र संघ अध्यक्षों का प्रतिनिधिमंडल कुलपति प्रो. हांगलू से मुलाकात कर उनसे छात्र संघ बहाल करने को कहेगा। समिति ने कुलपति से मिलने का वक्त मांगा है।

तीनों सांसद को संघर्ष समिति ने किया अनुरोध

संघर्ष समिति की ओर से तीनों स्थानीय सांसदों को पत्र लिखकर विश्वविद्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार, अनियमितताओं, भाई-भतीजावाद की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। साथ ही अनुरोध किया जाएगा कि वे मानव संसाधन विकास मंत्री तथा राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगें और संघर्ष समिति के सदस्यों के साथ उन्हें इलाहाबाद विश्वविद्यालय की विषम परिस्थितियों की जानकारी देते हुए मांग करें कि एक उच्च स्तरीय जांच समिति का गठन हो। जांच पूरी होने तक कुलपति को लंबी छुट्टी पर भेज कर अध्यापकों की चयन प्रक्रिया अविलंब प्रारंभ की जाए।

गांधी जयंती पर रैली निकालेंगे

तय किया गया कि दो अक्टूबर को गांधी जयंती पर बालसन चौराहे पर बापू की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके छात्रसंघ भवन के सामने स्थित शहीद लाल पद्मधर की प्रतिमा तक रैली निकाली जाएगी। मांगें पूरी न होने पर अगले चरण में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सामने अनिश्चितकालीन धरना दिया जाएगा। बैठक में प्रोफेसर राम किशोर शास्त्री, एके श्रीवास्तव, सुभाष चंद्र पांडेय, छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष विनोद चंद्र दुबे, सतीश अग्रवाल, ऋचा सिंह, रोहित मिश्रा, केसरी चंद्र द्विवेदी, अमरेंद्र सिंह, अखिलेश सिंह, हौसला त्रिपाठी, संतोष सहाय, अनिल कश्यप, निर्भय द्विवेदी, सूर्य प्रकाश, नवीन, पंकज, अनुराग आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस